Logo text

होम » कार्यक्रम » पीजीपी » प्रोग्राम » पाठ्यक्रम

पाठ्यक्रम

पी जी पी पाठ्यक्रम उद्योग के लोगों, पूर्व छात्रों और छात्रों की मदद से शिक्षकों द्वारा निरंतर नवीनता और सतत समीक्षा का परिणाम है। इस पाठ्यक्रम में दो घटक शामिल हैं: पहले वर्ष में मुख्य प्रोग्राम, और दूसरे वर्ष में वैकल्पिक प्रोग्राम।

मुख्य प्रोग्राम प्रबंधन के हर क्षेत्र के मूल में दृढ़ आधार, व्यापार ज्ञान और प्रबंधन सिद्धांत की आम नींव के विकास पर पर केंद्रित है। मुख्य प्रोग्राम में 25.50 क्रेडिट वाले 33 पाठ्यक्रम शामिल हैं। एक कोर पाठ्यक्रम प्रोग्राम दूसरे वर्ष में दिया जाता है। पहला साल छह स्तरों का है, जिनमें से प्रत्येक को 5 से 6 सप्ताह की अवधि दी जाती है।

पहले साल के प्रोग्राम के बाद छात्रों को आठ से नौ सप्ताह की अवधि के लिए संस्थान के कॉर्पोरेट भागीदारों के साथ ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण लेना होता है। ग्रीष्मकालीन इंटर्नशिप व्यावहारिक प्रबंधकीय अंतर्दृष्टि, प्रबंध अवधारणाओं की मान्यता, और मूल्यवान बाजार ज्ञान का एक शक्तिशाली स्रोत है।

दूसरे वर्ष के प्रोग्राम में प्रस्तुत वैकल्पिक पाठ्यक्रम में छात्र पाठ्यक्रम का वह समूह चयन कर सकते हैं जिनमें उनकी रुचि होती है और अपने चयनित क्षेत्रों में दक्षता का विकास कर सकते हैं। वैकल्पिक पाठ्यक्रमों में कक्षा वाले पाठ्यक्रम, अक्सर परियोजना घटकों के साथ, विभिन्न क्षेत्रों द्वारा पेशकश, स्वतंत्र अध्ययन के पाठ्यक्रम, विनिमय कार्यक्रम और गहन क्षेत्र पाठ्यक्रम शामिल होते हैं। कुल 17-20 क्रेडिट वाले छह स्तर होते हैं, जिनमें से प्रत्येक की अवधि 5 से 6 सप्ताह की होती है। प्रत्येक क्रेडिट के लिए न्यूनतम अस्सी घंटे कार्य करने की आवश्यकता होती है।

पाठ्यक्रम के प्रकार

 अ)     नियमित पाठ्यक्रम: यह कक्षा में विचार-विमर्श के माध्यम से मुख्य रूप से उपकरण, तकनीक, कौशल और अवधारणाओं को जानने में छात्रों की मदद करता है।
 ब)    संगोष्ठी पाठ्यक्रम: यह ज्ञान की सीमाओं का पता लगाने के लिए तथा अनुसंधान करने के लिए कक्षा सत्रों और समय की एक निर्दिष्ट संख्या प्रदान करता है।
 स)       परियोजनाएँ: इन्हें छात्रों की व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुरूप तैयार किया जाता है। परियोजनाओं की चार श्रेणियाँ हैः (1) स्वतंत्र परियोजना, (2) परियोजना पाठ्यक्रम, (3) स्वतंत्र अध्ययन के पाठ्यक्रम, और (4) व्यापक परियोजना।
  1. एक स्वतंत्र परियोजना, क्षेत्र अध्ययन, कंप्यूटर आधारित विश्लेषण और पुस्तकालय अनुसंधान के माध्यम से वास्तविक समस्याओं का अध्ययन करने के लिए छात्रों द्वारा सीखे गए उपकरण, तकनीक, कौशल और अवधारणाओं को लागू करने का अवसर प्रदान करती है। 
  2. छात्र प्रति दो स्तरों के सेट में से एक ही स्वतंत्र परियोजना (आई पी) (गैर-क्रेडिट) कर सकते हैं। इन्हें संबंधित प्रशिक्षक की पूर्व अनुमति से ही किया जा सकता है। गाइड द्वारा मंजूर परियोजना प्रस्तावों को स्लॉट नौ और ग्यारह के शुरू होने से पहले पी जी पी कार्यालय में प्रस्तुत किया जाना चाहिए। दूसरे वर्ष में क्रेडिट आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आई पी को शामिल नहीं किया जाएगा और जी पी ए गणना में भी उनके ग्रेड को शामिल नहीं किया जाएगा।  
  3. स्वतंत्र अध्ययन कोर्स (सी आई एस) (2.5 क्रेडिट) छात्र की रुचि के "क्षेत्र" के विषय का अन्वेषण करने देता है। यह एक समस्या के समाधान की खोज के लिए अध्ययन के कई क्षेत्रों का एकीकरण संभव बनाता है। यह समस्या की परिभाषा प्रासंगिक डेटा की खोज, डेटा का विश्लेषण और निष्कर्ष निकालने जैसी अनुसंधान की प्रक्रिया में मूल्यवान अनुभव प्रदान करता है। इस प्रकार सी आई एस नियमित पाठ्यक्रम में संभव से काफी परे व्यक्तिगत पहल, न्याय और उपाय कुशलता के लिए अनुमति देता है।  
  4. व्यापक परियोजना (सी पी) वास्तविक दुनिया के संदर्भ में जानने का अवसर प्रदान करता है। यह कार्यों और विषयों में शिक्षा के एकीकरण के लिए एक वाहन उपलब्ध कराता है। परियोजना संगठन आधारित होना चाहिए, द्वितीयक डेटा या पुस्तकालय कार्य पर पूरी तरह आधारित नहीं होना चाहिए। इसकी प्रकृति बहुकार्य और बहुविषयक होनी चाहिए। 

स्वतंत्र अध्ययन कोर्स (सी आई एस) के लिए पंजीकरण नहीं कराने वाले दूसरे वर्ष के छात्रों को संपूर्ण दूसरे वर्ष के दौरान अधिकतम दो एक-इकाई परियोजना पाठ्यक्रम करने दिया जाता है, लेकिन प्रत्येक अवधि में एक से अधिक नहीं। आई पी/सी आई एस यह सुनिश्चित करने के बाद ही किया जा सकता है कि दूसरे वर्ष में पाठ्यक्रम के माध्यम से न्यूनतम निर्दिष्ट क्रेडिट आवश्यकताएँ पूरी हो चुकी हैं। आई पी/सी आई एस ग्रेड की गणना जी पी ए के लिए नहीं की जाएगी। हालांकि, आई पी/सी आई एस ग्रेड को ग्रेड पत्र में दर्शाना जारी रहेगा। छात्र 2.5 क्रेडिट तक की परियोजनाएँ कर सकते हैं। इन्हें संबंधित प्रशिक्षक की पूर्व अनुमति से ही किया जा सकता है।