Logo text

होम » कार्यक्रम » पीजीपी » आवेदन कैसे करें » चयन प्रक्रिया

 

चयन प्रक्रिया

 

प्रवेश/चयन प्रक्रिया

आईआईएम अहमदाबाद में पीजीपी बैच 2013-15 में प्रवेश के लिए उम्मीदवार के चयन के लिए दो चरणों की प्रक्रिया है।  

प्रथम चरण में,इस कार्यक्रम के लिए आवेदन करने वाले तथा इस कार्यक्रम के मानदंडों को पूरा करने वाले उम्मीदवारों को कैट/जीमेट स्कोर* के आधार पर व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए लघुसूचित किया जाता है। विदेशी श्रेणी के अंतर्गत आने वाले उम्मीदवारों में जिन्होंने कैट स्कोर के बदले जीमैट स्कोर के साथ आवेदन किया है उनके पास कम से कम 700 पैमानेवाला कुल स्कोर होना चाहिए।  

चयन के लिए लघुसूचीकरण प्रक्रिया में उम्मीदवार के पूर्व शैक्षिक रिकॉर्ड को भी देखा जायेगा।  

चयन के लिए लघुसूचीकरण के मानदंड :  

कैट/जीमेट को 70% अधिमान और आवेदन मूल्यांकन स्कोर को 30% अधिमान दिया जाता है।

आवेदन मूल्यांकन (एआर) : 2013-15

 

मूल्यांकन स्कोर

1

2

3

()

10वीँ कक्षा की परीक्षा में प्रतिशत स्कोर

<60

60-80

80+

()

12वीँ कक्षा की परीक्षा में प्रतिशत स्कोर

<60

60-80

80+

()

स्नातक उपाधि की परीक्षा में प्रतिशत स्कोर

<60

60-80

80+

()

अनुस्नातक उपाधि की परीक्षा में प्रतिशत स्कोर

<60

60-80

80+

()

कार्यानुभव

<1 वर्ष

1-2 वर्ष

2+ वर्ष

 ·         अपूर्ण स्नातक की उपाधि के लिए प्रतिशत उम्मीदवार के उपलब्ध गुणों पर आधारित हैं।

·         जिनकी अनुस्नातक की उपाधि पूर्ण हो गयी हो उनको ही केवल ध्यान में लिया जायेगा। जिन्होंने एक से ज्यादा अनुस्नातक की उपाधि पूर्ण करके प्राप्त कर ली हो, उनकी उपाधि में उच्चतम प्रतिशतवाली उपाधि का उपयोग किया जायेगा।

·         जिन उम्मीदवारों ने सीए / आईसीडबल्यूएआई / सीएस की उपाधि स्नातक की उपाधि के बगैर प्राप्त की हैं, उनके लिए इंटर तथा आखिरी स्तर के औसत गुणों को स्नातक के गुणों के रूप में माना जायेगा।

·        आवेदन मूल्यांकन की गणना के लिए, कक्षा 10वीँ और 12वीँ की परीक्षा के गुणपत्रकों में रहे सभी विषयों को ध्यान में लिया जायेगा और बोर्ड/विश्वविद्यालयों में प्रतिशत के लिए की गई गणना को ध्यान में नहीं लिया जायेगा। स्नातक की उपाधि के लिए, सभी वर्षों के गुणपत्रक में दर्शाये अनुसार सभी विषयों में प्राप्त किये गुणों को ध्यान में लिया जायेगा। यदि आपके पास 5 वर्ष की एकीकृत मास्टर (अनुस्नातक) की उपाधि है, जिसमें प्रथम 3 वर्षों में प्राप्त किये गुणों को स्नातक की उपाधि के प्रतिशत के रूप में माना जायेगा और बाकी के 2 वर्षों के गुणों को मास्टर (अनुस्नातक) की उपाधि के प्रतिशत के रूप में समझा जायेगा। यदि आप 5 वर्ष के एकीकृत उपाधि के अभ्यास में से आखिरी 5वेँ वर्ष में हैं, तो प्रथम 3 वर्ष में प्राप्त किये गुणों को स्नातक की उपाधि में अपूर्ण प्रतिशत के रूप में ध्यान में लिया जायेगा।

आवेदन मूल्यांकन स्कोर : (xबीxसी)+डी+

प्रथम चरण में छँटनी करके लघुसूचीबद्ध किये हुए सभी उम्मीदवारों के व्यक्तिगत साक्षात्कार पूर्ण होने के बाद दूसरे चरण में, आईआईएम अहमदाबाद में पीजीपी के 2013-15 बैच में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों का साक्षात्कार की उपस्थिति के बाद चयन किया जाता है। व्यक्तिगत साक्षात्कार में किये प्रदर्शन के अलावा, यह सूची तैयार करने में, कैट/जीमेट स्कोर*, शैक्षिक प्रदर्शन और उपलब्धियाँ, पाठ्यक्रम से बाहरी गतिविधियाँ, और उपाधिप्राप्ति के बाद के कार्यानुभव इत्यादि को भी ध्यान में लिया जाता है।  

चयन के मानदंड :

व्यक्तिगत साक्षात्कार स्कोर को 70% अधिमान और कैट/जीमेट स्कोर को 30% अधिमान दिया जाता है। (नोट : निम्न के आधार पर व्यक्तिगत साक्षात्कार स्कोर गिना जायेगा : व्यक्तिगत साक्षात्कार में प्रदर्शन, शैक्षिक प्रदर्शन और उपलब्धियाँ, पाठ्यक्रम से बाहरी गतिविधियाँ और उपाधिप्राप्ति के बाद का कार्यानुभव।)

आईआईएमए द्वारा कैच के बाद पीजीपी के लिए प्रवेश प्रक्रिया के बारे में निम्न जानकारी दी जाती हैं। इसलिए, उम्मीदवार ये सावधानी से पढ़ें यह महत्त्वपूर्ण हैं।

  1. दाखिला प्रक्रिया में कैट में किये प्रदर्शन का काफी महत्त्व हैं। उम्मीदवारों को यह ध्यान में रखना चाहिए कि, इस परीक्षा के प्रत्येक अनुभाग में अच्छा दिखावा करना महत्त्वपूर्ण हैं। कैट में किये प्रदर्शन के अलावा, आईआईएमए में शैक्षिक प्रदर्शन, संबंधित कार्यानुभव और अन्य ऐसी ही योग्यताओं को रैंकिंग तथा उम्मीदवारों को छँटनी करके लघुसूचीबद्ध करने में ध्यान में लिया जाता है (उपर दिये विवरण देखें)। 
  2. कृपया ध्यान दें कि आईआईएमए अन्य आईआईएम से अलग तरीके से व्यक्तिगत साक्षात्कार के (पीआई) लिए उम्मीदवारों को छँटनी करके लघुसूचीबद्ध करता है। इसीलिए विभिन्न आईआईएम द्वारा उम्मीदवारों के लघुसूचीकरण की सूचियों में भिन्नता देखने मिलती है।
  3. छँटनी लघुसूचीबद्ध करके किये उम्मीदवारों के विवरण आईआईएमए की वेबसाइट पर (www.iima.ac.in) जनवरी 2013 के दूसरे सप्ताह में रख दिये जायेंगे। लघुसूचीबद्ध किये उम्मीदवारों को आईआईएमए द्वारा साक्षात्कार के बुलावा पत्र भी भेज दिये जायेंगे। जिन उम्मीदवारों को व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए छँटनी नहीं किया गया है उनको कोई भी संचार या पत्र भेजा नहीं जायेगा।
  4. व्यक्तिगत साक्षात्कार दौर के बाद, सफल हुए उम्मीदवारों को दाखिले का प्रस्ताव रखा जाता है। रैंकिंग और अंतिम चयन कैट/जीमैट में किये प्रदर्शन के गुणों, व्यक्तिगत साक्षात्कार में किये दिखावे, शैक्षिक, पाठ्यक्रम पूरक एवं पाठ्येतर उपलब्धियों, कार्यानुभव इत्यादि की विशेषताओं पर आधारित रहेंगे।
  5. प्रवेश प्रक्रिया के बारे में जानकारी का प्रकटीकरण ऐसे प्रसंगों द्वारा संचालित होता है जिसमें कई बार परस्पर टकराव होता है। उसी समय, आईआईएमए उम्मीदवारों की व्यक्तिगत गुप्तता और इस प्रक्रिया की गोपनीयता की सुरक्षा करना चाहेगा जिससे दुरूपयोग को रोका जा सके। इन्हीं कारणों के आधार पर, व्यक्तिगत प्रदर्शन को किसी अन्य के समक्ष दर्शाया नहीं जाता है। इसी तरह, उपरोक्त अनुच्छेद क्रम 4 के तहत दर्शाये गये आकलन सहित व्यक्तिगत साक्षात्कार में उम्मीदवारों के प्रदर्शन को दाखिला चयन प्रक्रिया में भाग ले रहे पैनल सदस्यों पर अनुचित दबाव को रोकने की कोशिष को रोका जा सके। उपरोक्त अनुच्छेद 4 के तहत विशेषताओं के विभिन्न सेट के लिए निर्धारित भार का खुलासा करने में आईआईएमए स्वयं के विवेक का उपयोग करता है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि पारदर्शिता के अनुभव की कमी से, उम्मीदवारों किसी भी तरह से नकारात्मक रूप से प्रभावित नहीं करे, पैनल के गठन में, मूल्यांकन के लिए उद्देश्य मापदंड के विकास, उम्मीदवारों को पैनल को यादृच्छिक आवंटन करने और ऐसे अन्य उपाय करने के लिए पर्याप्त ध्यान रखा जाता है।  
  6. व्यक्तिगत साक्षात्कार में भाग लेने वाले उम्मीदवार अप्रैल 2013 के दूसरे सप्ताह के दौरान आइ आइ एम-ए की वेबसाइट पर जाकर देख सकेंगे कि आइ आइ एम-ए द्वारा उन्हें प्रवेश की पेशकश की गई है या नहीं। सभी सफल उम्मीदवारों को दाखिले का प्रस्ताव पत्र भेजा जाएगा। जिन उम्मीदवारों को प्रवेश की पेशकश की गई है उन्हें मई 2013 के पहले/दूसरे सप्ताह में सभी आवश्यक औपचारिकताओं को पूरा करके अपनी स्वीकृति की पुष्टि करनी होगी। कुछ उम्मीदवारों को अप्रैल 2013 के दूसरे सप्ताह के दौरान शुरू में प्रतीक्षा सूची में भी रखा जा सकता है। प्रतीक्षा सूची के उम्मीदवारों के लिए प्रस्ताव सफल उम्मीदवारों द्वारा आई आई एम-ए द्वारा किए गए प्रस्ताव को स्वीकार करने की संख्या पर निर्भर करेगा।


नोट:  
भारत सरकार द्वारा जारी विशेष दिशा निर्देश की स्थिति में
, आई आई एम-ए को यह अधिकार है कि, दिशा निर्देशों की प्रकृति के आधार पर, उपरोक्त अनुसार अपने व्यक्तिगत साक्षात्कार को जारी रखे या चयन की वैकल्पिक प्रक्रिया को अपनाए, जिसमें प्रारंभिक चयनित उम्मीदवारों से अतिरिक्त जानकारी मंगाना, एक अनुपूरक परीक्षा या कोई अन्य उपयुक्त प्रक्रिया/पद्धति शामिल हो सकती है।  यह ध्यान रखा जाएगा कि अभ्यर्थियों को अनुचित असुविधा नहीं हो।

* कैट का अर्थ है कैट-2012

* जीमैट का अर्थ है 15 दिसम्बर 2012 से पीछले 24 महीनों में लिया गया जीमैट।