Logo text

होम » कार्यक्रम » पीजीपी » आवेदन कैसे करें » पात्रता

पात्रता

उम्मीदवार के पास भारत में केंद्रीय या राज्य विधानसभा अधिनियम द्वारा निगमित विश्वविद्यालयों या संसद के एक अधिनियम द्वारा स्थापित अन्य शिक्षण संस्थानों या विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम, 1956 की धारा 3 के तहत घोषित विश्वविद्यालय की कम से कम 50% अंक के साथ स्नातक की डिग्री या समकक्ष सी जी पी ए (अनुसूचित जाति (एस सी) / अनुसूचित जनजाति (एस टी) और विशिष्टतया योग्य श्रेणी (डी ए) से संबंधित उम्मीदवारों के मामले में यह 45 % है, या भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त समकक्ष योग्यता हो। उम्मीदवार द्वारा प्राप्त स्नातक की डिग्री या समकक्ष योग्यता उच्चतर माध्यमिक (10 +2) शिक्षा या समकक्ष पूरा करने के बाद न्यूनतम तीन वर्ष की शिक्षा आवश्यक होगी। स्नातक की डिग्री में उम्मीदवार द्वारा प्राप्त प्रतिशतता उस विश्वविद्यालय/संस्था द्वारा पालन की जा रही प्रक्रिया के आधार पर होगी, जहाँ से उम्मीदवार ने डिग्री हासिल की है। जिन उम्मीदवारों को अंकों के बजाय ग्रेड/सी जी पी ए दिया जा रहा है, वहाँ तुल्य विश्वविद्यालय/संस्था द्वारा प्रमाणित तुल्यता के आधार पर होगी, जहाँ से उन्होंने स्नातक की डिग्री प्राप्त की है। जिस विश्वविद्यालय/संस्था में सी जी पी ए को तुल्य अंकों में परिवर्तित करने की कोई योजना नहीं है, वहाँ तुल्यता आइ आइ एम-ए द्वारा अधिकतम संभव सी जी पी ए के साथ प्राप्त सी जी पी ए को विभाजित करके और परिणाम को 100 से गुणा करके तय की जाएगी।

स्नातक डिग्री के अंतिम वर्ष / समकक्ष योग्यता परीक्षा में भाग लेने वाले उम्मीदवार हैं और जिन्होंने डिग्री आवश्यकता पूरी कर ली है। जो परिणामों का इंतजार कर रहे हैं वे भी आवेदन कर सकते हैं। ऐसे उम्मीदवारों को प्रधानाचार्य/ विभागाध्यक्ष/ रजिस्ट्रार / विश्वविद्यालय / संस्था के निदेशक से प्रमाण पत्र लाना होगा कि उम्मीदवार अंतिम वर्ष में है / अंतिम परिणाम का इंतजार कर रहा है और नवीनतम उपलब्ध ग्रेड/ अंक के आधार पर कम से कम 50% अंक या समकक्ष प्राप्त किए हैं (अनुसूचित जाति/जनजाति/डी ए वर्ग से संबंधित उम्मीदवारों के मामले में 45%)। ऐसे उम्मीदवारों का चयन होने पर उन्हें पाठ्यक्रम में शामिल होने की अस्थाई अनुमति तभी दी जाएगी, यदि वे 30 जून 2011 तक अपने कॉलेज / संस्थान के प्रधानाचार्य / रजिस्ट्रार से (30 जून, 2011 या इससे पहले जारी) इस आशय का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करेंगे कि प्रमाण पत्र जारी करने की तारीख पर स्नातक की डिग्री / समकक्ष योग्यता प्राप्त करने के लिए सभी आवश्यकताओं को पूरा कर लिया है (या फिर, परिणाम का इंतजार है)। उनके प्रवेश की पुष्टि तभी की जाएगी जब उम्मीदवार प्रधान/रजिस्ट्रार द्वारा जारी प्रमाणपत्र में निर्दिष्ट अंक सूची और स्नातक की डिग्री / समकक्ष योग्यता कम से कम 50% अंक (अनुसूचित जाति / जनजाति / डी ए श्रेणी से संबंधित उम्मीदवारों के मामले में 45%) पास कर लेने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करेंगे । अंक सूची और प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए समय सीमा 31 दिसंबर 2011 है। इस शर्त को पूरा नहीं करने पर अंतिम प्रवेश स्वतः रद्द हो जाएगा। आइ आइ एम-ए 30 जून 2011 से पहले स्नातक की डिग्री के लिए सभी आवश्यकताओं को पूरा करने में असमर्थ किसी भी उम्मीदवार को अपने प्रोग्राम में शामिल होने की अनुमति नहीं देगा। आइ आइ एम-ए 30 जून 2011 के बाद किसी भी उम्मीदवार को प्रवेश भी नहीं देगा।

 


1 डी ए श्रेणी से तात्पर्य विशिष्ट योग्य वर्ग है। इस को पीडब्ल्यूडी श्रेणी के रूप में भी जाना जाता है।