Logo text

होम » कार्यक्रम » पीजीपी-एबीएम » प्रोग्राम » शिक्षा-विज्ञान

शिक्षा - विज्ञान

केस विधि

प्रभावी प्रबंधन में प्रासंगिक विश्लेषण और अंतर्दृष्टि के आधार पर निर्णय की आवश्यकता होती है। बुद्धि को उत्तेजित करने और बौद्धिक क्षमताओं में वृद्धि करने और सीखने के लिए केस विधि का प्रयोग किया जाता है। केस चर्चा के साथ अतिथि व्याख्यान, सेमिनार, खेल, भूमिका निभाना, औद्योगिक भ्रमण और समूह अभ्यास भी शामिल किए जाते हैं। केस विधि करने से समस्या को हल करने, निर्णय लेने और कार्यान्वयन के लिए आवश्यक कौशल विकसित किया जाता है। सैद्धांतिक अवधारणाओं को वास्तविक जीवन की स्थितियों के लिए लागू करके इस शिक्षा - विज्ञान का उपयोग किया जाता है। एक समग्र दृष्टिकोण विकसित करने पर जोर दिया जाता है जो असंरचित स्थितियों के साथ संबंधित हो और अनिश्चितता के अंतर्गत निर्णय लेने का कौशल प्रदान करे। जीवंत विचारों के आदान-प्रदान और उनके व्यावहारिक अनुप्रयोग को प्रोत्साहित करने करने के लिए केस तैयार किए जाते हैं, और छात्रों को अग्रणी रखने वाले अनुसंधान और वर्तमान पद्धतियाँ, दोनों से परिचय कराया जाता है। वर्तमान प्रबंधकीय व्यवहार और रुझान को दर्शाने के लिए हैं केसों की हर साल समीक्षा की जाती है।   

प्रारंभिक प्रोग्राम:

 साक्षात्कार के समय में पहचाने गए पीजीपी-एबीएम के प्रतिभागियों को गणित, कंप्यूटर और संचार का परिचय वाले 3-4 सप्ताह वाले व्यापक प्रिपरेटरी प्रोग्राम में भाग लेने होता है ताकि कृषि व्यापार प्रबंधन में स्नातकोत्तर प्रोग्राम के पाठ्यक्रमों के कठोर मानकों का सामना करने में उनकी मदद हो सके।

समूह परियोजनाएँ

प्रतिभाशाली और निपुर्ण साथियों के साथ काम करने का अनुभव पेशेवर और व्यक्तिगत त्वरित विकास के लिए एक अनूठा अवसर प्रदान करता है। समूह परियोजनाएं, अधिकांश पाठ्यक्रमों का एक प्रमुख घटक है, जो विभिन्न समूहों के प्रबंधन में कौशल का विकास और परिष्कृत करने में छात्रों की मदद करती हैं। समूहों को विभिन्न विषयों, पृष्ठभूमि, कॉर्पोरेट अनुभव और कैरियर झुकाव से बनाया जाता है ताकि दृष्टिकोण में भारी विविधता में सुधार और लाभ उठाया जा सके।

स्वतंत्र कोर्स या स्वतंत्र परियोजना

दूसरे वर्ष में छात्र के एक ऐसा परियोजना कोर्स चुन सकते हैं जिसमें विशेष संगठनों या क्षेत्रों में प्रबंधन पद्धतियों में अनुसंधान, या सरकारों, कंपनियों और अन्य सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के संगठनों के साथ परामर्श प्रोग्राम शामिल हो । स्वतंत्र अध्ययन चुनने वाले छात्रों को एक सक्षम संकाय दिया जाता है, जो उन्हें अवधारणात्मकता से लेकर सिफारिशें तैयार करने तक गाइड करता है। स्वतंत्र अध्ययन के कोर्स वर्तमान प्रबंधन प्रथाओं और दर्शन में सीधा अनुभव प्राप्त करने में छात्रों की मदद करता है।

Ø      छात्र दूसरे वर्ष के दौरान अधिकतम पांच क्रेडिट के लिए स्वतंत्र परियोजनाएँ (आईपी) (परियोजना पाठ्यक्रम, स्वतंत्र अध्ययन का पाठ्यक्रम, और व्यापक परियोजना सहित) कर सकते हैं। आईपी में अलग-अलग छात्र की आवश्यकताओं के अनुरूप पाठ्यक्रम डिज़ाइन किया जाता है।

Ø  परियोजना कोर्स क्षेत्र अध्ययन, कंप्यूटर आधारित विश्लेषण और पुस्तकालय अनुसंधान के माध्यम से वास्तविक समस्याओं का अध्ययन करने के लिए छात्र द्वारा सीखे गए उपकरण, तकनीक, कौशल और अवधारणाओं को लागू करने का अवसर प्रदान करता है। एक परियोजना कोर्स के छात्र के पिछले पाठ्यक्रमों पर बनता है।

Ø  स्वतंत्र अध्ययन कोर्स (सीआईएस) (दो इकाइयों से स्वतंत्र काम) (2.5 क्रेडिट) छात्र की एकाग्रता या विशेष रुचि के क्षेत्र के विषय का गहराई से अन्वेषण करने देता है। यह एक समस्या के समाधान की खोज के लिए अध्ययन के कई क्षेत्रों का एकीकरण में संभव बनाता है। यह समस्या की परिभाषा प्रासंगिक डेटा की खोज, डेटा का विश्लेषण और निष्कर्ष निकालने जैसी अनुसंधान की प्रक्रिया में मूल्यवान अनुभव प्रदान करता है। इस प्रकार सीआईएस नियमित पाठ्यक्रम में संभव से काफी परे व्यक्तिगत पहल, न्याय और उपाय कुशलता के लिए अनुमति देता है। क्रेडिट दो सत्रों में जा सकता है या एक सत्र में ही किया जा सकता है।

व्यापक परियोजना (तीन या अधिक इकाइयों से स्वतंत्र काम) वास्तविक दुनिया के संदर्भ में जानने का अवसर प्रदान करता है। यह कार्यों और विषयों में शिक्षा के एकीकरण के लिए एक वाहन उपलब्ध कराता है। परियोजना संगठन आधारित होना चाहिए, द्वितीयक डेटा या पुस्तकालय कार्य पर पूरी तरह आधारित नहीं होना चाहिए। इसकी प्रकृति बहुकार्य और बहुविषयक होनी चाहिए।    

एकाग्रता पैकेज

एकाग्रता पैकेज का मुख्य प्रयोजन एक छात्र को एक विशेष कार्य क्षेत्र में अपने कैरियर में जिम्मेदारियों की चुनौतियों को निभाने के लिए तैयार करना है। वर्तमान में, यह संस्थान कंप्यूटर और सूचना प्रणाली में एक एकाग्रता पैकेज उपलब्ध कराता है। एकाग्रता पैकेज के परिणाम स्वरूप छात्रों के कौशल का और विकास किया जाता है ताकि वे चुने हुए क्षेत्र में जटिल प्रबंधन समस्याओं को बेहतर समझने और सराहना करने में सक्षम हो सकें। यह छात्रों के समग्र दृष्टिकोण को विकसित करने में मदद करता है और उन्हें समग्रता में प्रबंधन को देखने के लिए सक्षम करता है।