Logo text

होम » कार्यक्रम » पीजीपी-एबीएम » पूर्व छात्र

पूर्व छात्र

पीजीपी-एबीएम कार्यक्रम 2000 में शुरू करने के कारण जिन्होंने इस संस्थान से कार्यक्रम उत्तीर्ण किया वे छात्र अच्छी तादाद में कृषि-व्यवसाय और संबंधित उद्योगों में कार्य कर रहे हैं इस संस्थान के पूर्वछात्र के रूप में उनके योगदान से  इस कार्यक्रम को अच्छा प्रदर्शन मिला है। पीजीपी-एबीएम के ब्रांड प्रतिनिधि के तौर पर, इस क्षेत्र में अपने योगदान के द्वारा उन्होंने एक अच्छा दृष्टिकोण बनाया है। 

आईआईएम के पूर्व छात्र न केवल आईआईएम-ए बल्कि दुनिया भर के आसमान में चमकते तारे हैं। आईआईएम-ए के पूर्व छात्रों की उपलब्धियाँ और सफलता आईआईएम-ए में प्रबंधन शिक्षा के उच्च मानकों की गवाही है। आईआईएम-ए के पूर्व छात्र आईआईएम-ए छात्र संघ के सदस्य हैं और जीवन भर आईआईएम-ए समुदाय का एक हिस्सा रहते हैं।

 गतिविधियाँ

आईआईएम-ए एल्युम्नस पूर्व छात्रों के लिए और पूर्व छात्रों के द्वारा पूर्व छात्र-छात्राओं का त्रैमासिक प्रकाशन है। इसमें कैरियर और पूर्व छात्रों से संबंधित रिपोर्टों, और विशेष रूप से उद्योग के पेशेवरों द्वारा लिखे लेखों के साथ साथ पूर्व छात्रों से संबंधित खबर, घटनाएँ और गतिविधियाँ प्रकाशित की जाती हैं। पत्रिका पूर्व छात्रों और संस्थान के बीच एक कड़ी का काम करती है।

खंड (चैप्टर)

पूर्व छात्र खंड अधिकांश शहरों में पूर्व छात्रों की गतिविधियों को चलाने में मदद करते हैं। यहाँ वर्तमान में भारत में और दुनिया भर में 16 खंड हैं जो पूर्व छात्रों के सभी बैचों के बीच लगातार बातचीत बनाए रखते हैं जिससे संस्थान के पूर्व छात्रों को दृढ़ता से जुड़ा रखने में मदद रहती है।

पूर्व छात्र पुनर्मिलन

परिसर में नियमित रूप से आयोजित होने वाले सम्मेलनों और संगोष्ठियों के अलावा, पूरे साल भर पूर्व छात्रों की गतिविधियों का आकर्षण रजत जयंती पुनर्मिलन है जो साल के अंत में आयोजित किया जाता है। केम्पस पर नियमित रूप से आयोजित किये जाने वाले सम्मेलनों और संगोष्ठियों के उपरांत यह कार्यक्रम होता है। इस वर्ष के कार्यक्रम में 94 पूर्व छात्र पुनर्मिलन के लिए आए। यह समूह उत्साह और उत्तेजना के साथ आता है और समय को 25 साल से पीछे ले जाता है। इस तीन दिवसीय समारोह में दुनिया भर से आईआईएम-ए के पूर्व छात्र और उनके परिवार परिसर में इकट्ठा होते हैं जिसे उन्होंने 25 साल पहले छोड़ दिया था। यह न केवल वह मंच प्रदान करता है जहाँ नए सिरे से दोस्ती और यादें ताजा हो जाती हैं, बल्कि यह छात्रों को महसूस भी कराता है कि परिसर का जीवन इन वर्षों में कितना बदल गया है। पीजीपी -II के साथ एक चुनौतीपूर्ण क्रिकेट मैच, "प्रतिभा नाईट", और "डीजे नाईट " जैसे मज़ेदार कार्यक्रमों के अलावा, शिक्षकों के साथ बातचीत सत्र भी आयोजित किए जाते हैं जहाँ शिक्षक और पूर्व छात्र अपनी मातृ संस्था के साथ छात्रों के अंतर - संबंध को अधिक मजबूत करने की योजना बनाने पर एक साथ विचार मंथन करते हैं।

पूर्व छात्र अपने साथ आईआईएम-ए के लिए पर्यावरण के साथ संस्थान का इंटरफेस, उत्कृष्टता के मानकों का रखरखाव जैसे मुद्दों पर अपनी चिंताओं को साथ लाए थे। उन्होंने उन तरीकों का सुझाव दिया जिनके माध्यम से संस्थान नये आयाम स्थापित कर सकता है।

ऐसे पुनर्मिलन से उनकी युवाओं की भावना के साथ साथ अपनी यात्रा की समीक्षा भी कर पाते हैं। इन सभी गतिविधियों में प्रथम वर्ष और दूसरे वर्ष के छात्र परिसर में पूर्व छात्रों की यात्रा को एक यादगार घटना बनाने के लिए सक्रिय सहयोग प्रदान करते हैं।

अल्युम्नस

आईआईएम-ए छात्र संघ की स्थापना 1967 में एक केन्द्रीय समिति और महत्वपूर्ण शहरों में खंडों के साथ की गई थी। आईआईएम-ए छात्र संघ एक गैर लाभकारी संगठन है जो संस्था के उद्देश्यों को बढ़ावा देता है और पूर्व छात्रों के साथ निरंतर सहयोग बनाए रखता है। सदस्यता उन सभी के लिए खुली है जिन्होंने संस्थान के एफ पी एम, पीजीपी, पीजीपी-एबीएम, एफडीपी और एमडीपीयों में भाग लिया है।  

संस्थान में एक पूर्वछात्र केन्द्र गतिविधि (अल्यूम्नि सेन्टर एक्टिविटिज़) है जिसके अध्यक्ष डीन (पूर्वछात्र एवं बाह्य संबंध) हैं। ये अध्यक्ष देशभर तथा विश्वभर में अपने पूर्वछात्रों के साथ अंतर्क्रिया करते हैं और संस्थान में होने वाले उत्सवों की जानकारी देते हैं। ये अध्यक्ष निधि जुटाने की गतिविधियों का भी समन्वय करते हैं और संस्थान में हो रही गतिविधियों के बारे में काफी जागरूकता पैदा करते हैं। पूर्वछात्र कार्यालय द्वारा प्रकाशित होने वाली त्रैमासिक पत्रिका ल्यूम्नस  में संस्थान में होने वाले विभिन्न उत्सवों के बारे में व्यापक विवरणों का प्रकाशन होता है।