Logo text

होम » कार्यक्रम » पीजीपी-एबीएम » आवेदन कैसे करें » प्रवेश प्रक्रिया

प्रवेश-प्रक्रिया

  2.      प्रवेश/चयन प्रक्रिया
 
आईआईएम अहमदाबाद में पीजीपी-एबीएम के 2014-16 बैच में उम्मीदवारों के चयन के लिए प्रवेश प्रक्रिया दो चरण वाली है।
सर्वप्रथम, इस कार्यक्रम के लिए आवेदन किया हो तथा मान्य कैट स्कोर प्राप्त हो तथा कार्यक्रम के योग्यता मानदंडों की संतुष्टी करते हो, उन उम्मीदवारों को समूह चर्चा (जीडी) एवं व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) करके लघु सूचीकृत किया जाता है।  
पीजीपी-एबीएम 2014-16 बैच1 के लिए लघु सूचीकरण और चयन मानदंड
 
2.1   लघु सूचीकरण मानदंड
पीजीपी-एबीएम प्रवेश के लिए उम्मीदवारों के लघु सूचीकरण के लिए, कैट स्कोर में 70% अधिमान और आवेदन रेटिंग स्कोर को 30% अधिमान दिया जायेगा। क्योंकि यह कार्यक्रम विशेष क्षेत्र का है और यह प्रासंगिक शैक्षिक पृष्ठभूमि के उन उम्मीदवारों की पसंद है जो कृषि विज्ञान या कृषि संबंधित विषयों में स्नातक या स्नातकोत्तर हैं, उन्हें लघुसूचीयन तथा व्यक्तिगत साक्षात्कार के समय विशेष रूप से ध्यान में लिया जायेगा।
 
किसी भी गैर-कृषि विषय में स्नातक उपाधि या समकक्ष अर्हता के साथ उम्मीदवारों का लघुसूचीयन (पात्रता मानदंडों के अनुच्छेद 1.2 के तहत पात्र उम्मीदवार) कार्यक्रम में उनकी रुचि की प्रकृति को दर्शाने वाले निर्दिष्ट प्रपत्र की प्रस्तुति के अधीन अंतरिम रहेगी। इस कार्यक्रम के लिए कैट का परिणाम दर्शाने वाले लिंक पर यह फॉर्म उपलब्ध होंगे। इस फॉर्म को कार्यक्रम के लिए कैट परिणामों को दर्शाने वाले लिंक पर निर्दिष्ट समय सीमा तक ऑनलाइन प्रस्तुत करना होगा (आईआईएमए द्वारा लघु सूचीकरण परिणामों की घोषणा के दिन से 7 दिनों के भीतर ही समय सीमा रहेगी), जिसमें असफल रहने पर, लघु सूचीकृत उम्मीदवार की उम्मीदवारी रद्द हो जायेगी और कार्यक्रम में दाखिले के लिए आगे उम्मीदवार को ध्यान में नहीं लिया जायेगा। आईआईएमए द्वारा घोषित परिणामों पर नज़र रखना और समय सीमा में प्रस्तुति के अनुपालन को सुनिश्चित करना उम्मीदवार की जिम्मेदारी रहेगी।
 
आवेदन का मूल्यांकन :आवेदक की 10वीँ कक्षा की परीक्षा, 12वीँ कक्षा की परीक्षा और स्नातक  परीक्षा के उनके शैक्षिक प्रदर्शन (प्राप्त किये अंक) को मूल्यांकित किया जायेगा। आवेदन मूल्यांकन स्कोर के लिए मानदंड निम्नानुसार रहेंगे :
 
10वीँ एवं 12वीँ कक्षाओं के लिए : आवेदकों को 10वीँ एवं 12वीँ कक्षा की परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के अपने प्रतिशत के आधार पर मूल्यांकन स्कोर 'ए' और 'बी' में आवंटित किया जायेगा।
स्नातक की उपाधि के लिए : आवेदकों को मूल्यांकन स्कोर 'सी' (देखें तालिका 1 में) स्नातक की उपाधि में प्राप्त अंकों के प्रतिशत के आधार पर आवंटित किया जायेगा।
तालिका 1 : आवेदन मूल्यांकन (एआर) : 2014-16 मूल्यांकन स्कोर
 
10वीँ कक्षा परीक्षा में प्रतिशत अंक
मूल्यांकन अंक A
  <= 55
1
  > 55 और <= 60
2
  > 60 और <= 70
3
  > 70 और <= 80
4
  > 80 और <= 90
7
  > 90
10
12वीँ कक्षा परीक्षा में प्रतिशत अंक
मूल्यांकन अंकB
  <= 55
1
  > 55 और <= 60
2
  > 60 और <= 70
3
  > 70 और <= 80
4
  > 80 और <= 90
7
  > 90
10
स्नातक की उपाधि में प्रतिशत अंक
मूल्यांकन अंक C
  <= 55
1
  > 55 और <= 60
2
  > 60  और <= 65
3
  > 65 और <= 70
4
  > 70 और <= 80
7
  > 80
10
 
प्राप्त अंकों के बारे में नोट्स :

  • अपूर्ण स्नातक उपाधि के आवेदकों के लिए प्रतिशत उनके उपलब्ध अंकों पर आधारित रहेंगे।
  • जिन उम्मीदवारों ने स्नातक की उपाधि के बगैर सीए/आईसीडब्ल्यूएआई/सीएस उत्तीर्ण किया है, उनके इंटर एवं अंतिम वर्ष के अंकों की औसत को स्नातक उपाधि अंकों के रूप में माना जायेगा।
  • प्रतिशत गिनने के लिए बोर्ड/युनिवर्सिटी द्वारा ध्यान में लिये विषयों का संदर्भ लिये बगैर आवेदन मूल्यांकन की गणना के लिए, 10वीँ एवं 12वीँ की परीक्षा के अंकपत्र में रहे सभी विषयों को ध्यान में लिया जायेगा।
  • स्नातक की उपाधि के लिए, संस्थान/विश्वविद्यालय द्वारा दिये गए अंकों के प्रतिशत को अंतिम माना जाएगा। यदि संस्थान/विश्वविद्यालय अंकों के प्रतिशत नहीं देते हैं तो अंकपत्र में सूचीबद्ध सभी विषयों में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रतिशत को गिना जाएगा।
  • सभी वर्षों के अंकपत्र(त्रों) में प्रस्तुत के अनुसार सभी विषयों में प्राप्त अंकों को यदि संस्थान/विश्वविद्यालय ध्यान में नहीं लेते हैं तो उसके प्रतिशत के लिए उम्मीदवार को यदि लघुसूचीकृत किया गया है तो जीडी/पीआई के समय विश्वविद्यालय/संस्थान के विभाग/रजिस्ट्रार/निदेशक द्वारा प्रमाणीकरण दिए प्रमाणपत्र को प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा।
  • यदि किसी बोर्ड/संस्थान/विश्वविद्यालय ने ग्रेडपत्र पर अंकों के समकक्ष प्रतिशत दिए बगैर ही केवल ग्रेड शब्द दिया है, तो उम्मीदवार को बोर्ड/संस्थान/विश्वविद्यालय की तरफ से समकक्ष अंकों को निर्दिष्ट करते हुए प्रमाणपत्र प्राप्त करना होगा जिसे ऑनलाइन कैट आवेदन प्रपत्र भरने के लिए उपयोग में लेना होगा। यदि लघुसूचीकृत किया जाता है तो समकक्ष मूल प्रमाणपत्र समूह चर्चा - व्यक्तिगत साक्षात्कार के समय प्रस्तुत करना जरूरी है।
  • 5-वर्ष की एकीकृत मास्टर्स उपाधि वाले उम्मीदवारों के लिए, स्नातक उपाधि के प्रतिशत के रूप में पहले 3 वर्षों में प्राप्त अंकों के प्रतिशत को माना जायेगा। 5वर्षीय एकीकृत मास्टर्स उपाधि के अंतिम वर्ष के ऐसे उम्मीदवारों के लिए, पहले 3 वर्षों में प्राप्त किए अंकों को स्नातक के रूप में लिया जायेगा और अपूर्ण उपाधि माना जायेगा।
 
आवेदन मूल्यांकन स्कोर :
एआर(एप्लिकेशन रेटिंग)=0.5*A+1.5*B+2.5*C
                                    एआर का अधिकतम स्कोर= 45
मिश्रित (कम्पोज़िट) स्कोर :
अधिकतम कैट स्कोर = 450
                                 समग्र स्कोर = (प्राप्त कैट स्कोर/450)* 0.7 + (एआर/45)*0.3
समूहचर्चा और व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए उम्मीदवारों का लघुसूचीयन करते समय, आरक्षित सीटों के लिए योग्य उम्मीदवारों और योग्यता मानदंडों को अनुच्छेद 1.1 के तहत योग्य उम्मीदवारों के लिए अलग से रखे जायेंगे।
 
तालिका 2 : स्नातक/मास्टर्स उपाधि के लिए विषय2 (कैट आवेदन के अनुसार)
 
कृषि
1.      कृषि जैव प्रौद्योगिकी, कृषि कीट विज्ञान, आनुवंशिकी एवं पौधे उगाना, पौधा रोग विज्ञान, बीज विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, कृषि विज्ञान, मृदा विज्ञान, कृषि व्यवसाय प्रबंधन, कृषि अर्थशास्त्र, कृषि विस्तार, कृषि सांख्यिकी, इत्यादि।
2.      पशु पालन
3.      डेयरी विज्ञान / प्रौद्योगिकी
4.      सब्जियों एवं फूलों की खेती सहित बागबानी
 कृषि संबद्ध
1.      कृषि इंजीनियरिंग
2.      मत्स्य पालन
3.      वन विज्ञान
4.      गृह विज्ञान
5.      पशु चिकित्सा विज्ञान
6.      खाद्य प्रौद्योगिकी
7.      ग्रामीण अध्ययन/ग्रामीण समाजशास्त्र/ ग्रामीण सहकारिता/ग्रामीण बैंकिंग इत्यादि।
जीवन विज्ञान, वाणिज्य और संबंधित विषय
1.      वाणिज्य/अर्थशास्त्र : लेखाशास्त्र, लेखापरीक्षा, बैंकिंग, व्यापार गणित, व्यवसाय संगठन, अर्थशास्त्र, आर्थिक विकास एवं योजना, लोक प्रशासन, सार्वजनिक वित्त, सचिवीय पद्धतियाँ आदि।
2.      चार्टर्ड लेखाविधि
3.      लागत एवं कार्य लेखाविधि
4.      कंपनी सेक्रेटरीशिप
5.      होटल एवं पर्यटन प्रबंधन
6.      प्रबंधन (व्यवसाय प्रशासन, व्यवसाय प्रबंधन, व्यवसाय अध्ययन, प्रबंधन अध्ययन)
7.      विज्ञान : भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, जीव विज्ञान, जैव रसायन, जैव प्रौद्योगिकी, वनस्पति विज्ञान, जीवन विज्ञान, प्राणी विज्ञान, सांख्यिकी, इत्यादि।
इंजीनियरिंग एवं अन्य
1.      आर्किटेक्चर
2.      इंजीनियरिंग/प्रौद्योगिकी [कम्प्यूटर इंजीनियरिंग, कम्प्यूटर विज्ञान, आई.टी. सहित सभी इंजीनियरिंग विषयों में बी.ई., बी.एससी. (इंजीनियरिंग), बी.टैक]
3.      कानून
4.      ऐसे अन्य विषय जो उपर नहीं दर्शाए गए हैं  
 
2.2   चयन के मानदंड
 
दूसरे चरण में, आईआईएम अहमदाबाद में पीजीपी-एबीएम के 2014-16 बैच में प्रवेश के लिए प्रथम चरण में समूह चर्चा एवं व्यक्तिगत साक्षात्कारों (जीडी-पीआई) के लिए लघुसूचीकृत उम्मीदवारों में से जीडी-पीआई में उपस्थित रहे उम्मीदवारों का ही चयन किया जायेगा।
 
इस कार्यक्रम के लिए उम्मीदवारों के अंतिम चयन के लिए, जीडी-पीआई स्कोर को 70% अधिमान और अंतिम चरण में चयन में आने के लिए एकीकृत स्कोर के समग्र स्कोर को 30% अधिमान दिया जायेगा। व्यक्तिगत साक्षात्कार स्कोर समूह चर्चा, व्यक्तिगत साक्षात्कार, मान्य पुरस्कारों एवं सम्मानों, शैक्षिक प्रदर्शन, असाधारण उपलब्धियों, पाठ्येतर गतिविधियों, स्नातक के बाद के कार्यानुभव, स्नातकोत्तर शिक्षा इत्यादि के आधार पर रहेगा।
 
कैट के परिणाम के बाद अपने पीजीपी-एबीएम के लिए आईआईएमए प्रवेश प्रक्रिया के लिए निम्न सूचना का अनुसरण करता है। इसीलिए, ये सूचनाएं उम्मीदवार ध्यानपूर्वक पढ़ें।
 
1.      प्रवेश प्रक्रिया के लिए कैट में प्रदर्शन एक महत्त्वपूर्ण पैमाना है। उम्मीदवारों को यह ध्यान रखना चाहिए कि परीक्षा के प्रत्येक सैक्शन में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। कैट में प्रदर्शन के उपरांत, जीडी-पीआई के लघुसूचीयन के लिए आईआईएमए शैक्षिक पृष्ठभूमि का भी उपयोग करता है।
 
2.      कृपया ध्यान दें कि आईआईएमए अन्य आईआईएमों व पीजीपी आईआईएम अहमदाबाद से स्वतंत्र रूप से पीजीपी-एबीएम जीडी-पीआई के लिए उम्मीदवारों को लघुसूचीकृत करता है। इसलिए विभिन्न आईआईएमों एवं कार्यक्रमों द्वारा लघुसूचीकृत उम्मीदवारों की सूचियों में अंतर दिखाई दे यह संभव है।
 
3.      लघुसूचीकृत उम्मीदवारों के विवरण जनवरी 2014 के तीसरे सप्ताह में आईआईएमए की वेबसाइट (www.iima.ac.in) पर उपलब्ध होंगे। आईआएमए द्वारा लघुसूचीकृत उम्मीदवारों को जीडी-पीआई के लिए कॉल-लेटर भी भेजे जायेंगे। जिन उम्मीदवारों को समूह-चर्चा एवं व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए लघुसूचीबद्ध नहीं किया गया है उनसे कोई संचार नहीं किया जायेगा।
 
4.      जीडी-पीआई चरण के बाद, सफल रहे उम्मीदवारों को आईआईएमए प्रवेश की पेशकश भेजता है। कैट में प्रदर्शन, जीडी-पीआई में प्रदर्शन, शैक्षिक, सहपाठ्यक्रम एवं पाठ्येतर उपलब्धियों, कार्यानुभव आदि जैसी विविध विशेषताओं को समाहित करते हुए उनके आधार पर रैंकिंग एवं अंतिम चयन होता है।
 
5.      प्रवेश प्रक्रिया के बारे में सूचना का प्रकटीकरण संबंधित अधिकारियों द्वारा किया जाता है जो कि कभी-कभार अलग-अलग होता है। आईआईएमए प्रवेश प्रक्रिया पारदर्शक रखना पसंद करता है। इसके साथ ही, आईआईएमए उम्मीदवारों की व्यक्तिगत जानकारी सुरक्षित रखता है एवं प्रक्रिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए गोपनीय रखता है। इन विचारों के आधार पर, किसी भी व्यक्ति के प्रदर्शन को किसी अन्य व्यक्ति के समक्ष उपलब्ध नहीं कराया जाता। उसी तरह, उपरोक्त अनुच्छेद 4 के तहत प्रस्तुत परिमाणों के आकलन को समाहित करते हुए जीडी-पीआई में उम्मीदवारों के प्रदर्शन को प्रवेश/चयन प्रक्रिया में शामिल पैनल पर अनुचित दबाव को रोकने के लिए किसी के सामने कोई खुलासा नहीं किया जाता है। आईआईएमए उपरोक्त अनुच्छेद 4 के तहत प्रस्तुत विशेषताओं की विविधता के प्रति आवंटित मान का खुलासा आईआईएमए स्वविवेक से करता है। उम्मीदवारों को नकारात्मक रूप से किसी भी तरह से प्रभावित नहीं करता है ऐसी पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए पैनल की रचना, आकलन के वैकल्पिक मानदंडों के विकास, पैनल के समक्ष उम्मीदवारों का यादृच्छिक आवंटन, और ऐसे अन्य उपायों में पर्याप्त ध्यान रखा जाता है।
 
6.      जो उम्मीदवार जीडी-पीआई में उपस्थित हुए हैं वे आईआईएमए वेबसाइट पर जाकर अप्रैल 2014 के दूसरे सप्ताह में आईआईएमए द्वारा प्रवेश पा सके हैं कि नहीं यह जानने के लिए सक्षम होंगे। सभी सफल उम्मीदवारों को प्रवेश की पेशकश के पत्र भेजे जायेंगे। जिन उम्मीदवारों को प्रवेश की पेशकश की गई है, उन्हें मई 2014 के प्रथम/द्वितीय सप्ताह तक सभी औपचारिकताएँ पूर्ण करने की स्वीकृति देना जरूरी है। अप्रैल 2014 के दूसरे सप्ताह के दौरान कुछ उम्मीदवारों को शुरूआत में प्रतीक्षा सूची में भी रखा जा सकता है। प्रतीक्षा सूची में रखे उम्मीदवारों की पेशकश आईआईएमए द्वारा की गई पेशकश की स्वीकृति करने वाले सफल उम्मीदवारों की संख्या पर निर्भर रहेगी।
 
नोट :
 
भारत सरकार द्वारा जारी विशिष्ट दिशा निर्देशों के संदर्भ, आईआईएम यह अधिकार सुरक्षित रखता है  यह दिशा निर्देशों की प्रकृति पर निर्भर करता है जैसे कि उपर कहे अनुसार जीडी-पीआई के साथ आगे बढ़ेगा अथवा एक वैकल्पिक चयन प्रक्रिया का उपयोग करेगा जिसमें लघुसूचीकृत उम्मीदवारों से अतिरिक्त जानकारी के लिए फोन करना, एक पूरक परीक्षा लेना या ऐसी ही कोई उपयुक्त अन्य प्रक्रिया/व्यवस्था शामिल हो सकती है। इस बात का ध्यान रखा जायेगा कि उम्मीदवारों को अनुचित असुविधा ना हो।

1आईआईएमअहमदाबाद किसी भी चरण पर आवश्यक लगता है तो लघुसूचीयन एवं चयन मानदंडों में बदलाव लाने के अधिकार सुरक्षित रखता है।

2
नोट : जिस शैक्षिक वर्ग के तहत शैक्षिक कार्यक्रम वर्गीकृत है उस पर अंतिम निर्णय स्वविवेकानुसार आईआईएम-अहमदाबाद की प्रवेश समिति के पास रहेगा।