Logo text

होम » कार्यक्रम » पीजीपीएक्स » कैरियर प्रभाव » प्रशंसापत्र

प्रशंसापत्र

उद्योग में काफ़ी समय रहने के बाद, मुझे एक ऐसे एम बी ए प्रोग्राम की तलाश थी जो मुझे मेरे शीर्ष प्रबंधन कैरियर में छलाँग लगाने के लिए कौशल और उपकरणों का सेट प्रदान कर सकता हो। अनुभवात्मक अभिगम और केस आधारित अध्यापन पर अपना ध्यान केंद्रित करने के साथ पी जी पी एक्स मेरे लिए एक सही विकल्प था।
- नागेश शुक्ला, पी जी पी एक्स-V (2010-11)

पीजीपीएक्स मेरी उम्मीदों से परे चला गया है और मुझे हर दिन आश्चर्यचकित करता है। यहाँ उपलब्ध संसाधनों की मात्रा और गुणवत्ता जबरदस्त है। छात्रों, संकाय और उद्योग के नेताओं के माध्यम से यहाँ सीखने का खज़ाना उपलब्ध है। यह वास्तव में एक समग्रतया सीखने का अनुभव है और सही समय पर कैरियर में रखा जाता है।
- ज्योतिस्वरूप जयप्रकाश, पी जी पी एक्स-V (2010-11)

पी जी पी एक्स एक घड़ा है, जिसमें विश्वस्तरीय रसायन निर्माता हैं जिसमें कई दर्जन बेहद होनहार, सख़्त अखरोट डाले जाते हैं। तब वे उन्हें आग पर तपाते हैं और उन्हें पूर्णता के रूप में तैयार होते देखते हैं और नियोक्ताओं को उनकी कड़ी मेहनत का आनंद लूटते हुए देखने में उन्हें बहुत खुशी मिलती है।
- राहुल थापा, पी जी पी एक्स-V (2010-11)

पी जी पी एक्स अब तक का मेरा अत्यंत समृद्ध, दिव्य अनुभव रहा है। काम से अवकाश लेने के अपने फैसले पर पीछे मुड़कर देखता हूँ तो पाता हूँ कि, अपनी बुद्धि को तेज़ करने, भावी नेतृत्व की भूमिका के लिए तैयार होने की दिशा में अपने आप को तैयार करने में मेरे अनुभव को लागू करने और पूरक कौशल को परवान चढ़ाने की इससे अधिक फायदेमंद और सुखद प्रक्रिया नहीं हो सकती थी। मैं कक्षा में अनुभव की गुणवत्ता और विविधता से खिल गया था।
- राजेश प्रेमचन्द्रन, पी जी पी एक्स V (2010-11)

पी जी पी एक्स में वह सब कुछ है जो एक ही साल में किसी कार्यकारी के जीवन को बदलने के लिए आवश्यक होता है - यह उत्कृष्ट ब्रांड है, बेहतरीन प्रोफेसर हैं, मजबूत केस विधि शिक्षा शास्त्र, बुद्धिमान और पूरा उत्कृष्ट बुनियादी सुविधाओं युक्त है और अंत में सबसे ऊपर – देश में सबसे अच्छा प्लेसमेंट। यह निश्चित रूप से मेरे लिए एक सपने का प्रोग्राम है!
- मेजर दीपक अय्यर, 32 वर्ष, जूनियर एसोसिएट, मैक्किंज़े एंड कंपनी

मैंने पी जी पी एक्स (2009 में) से जुड़ने का फैसला तब किया था जब क्षितिज पर मंदी एक बड़ा राक्षस थी। 49 वर्ष की उम्र, पी-एच डी के बाद 22 वर्षों के अनुभव अन्य कारक थे, जो कैरियर में एक वर्ष के अवकाश को परिवार और सहयोगियों सहित ज्यादातर लोगों के लिए एक उन्मादी निर्णय था। सबसे आम राय यह थी कि पी जी पी एक्स के बाद नौकरी मिलना कठिन/असंभव होगा। लेकिन आई आई एम-ए ने मेरा समर्थन किया और मुझे प्रवेश की पेशकश की। पी जी पी एक्स प्रोग्राम के अंत में, मुझे जल्द ही पता लग गया कि नौकरी प्राप्त करना मेरी चिंता नहीं थी। बल्कि, मैं और अधिक चिंतित इसलिए था कि मेरे सामने खुले कई विकल्पों में से मेरे लिए सही काम कौनसा था।
- डॉ. इस्माइल सामीवाला, 49 वर्ष (पी जी पी एक्स में शामिल होने के समय), वरिष्ठ उपाध्यक्ष, बायोलोजिक्स, यूए स वी लिमिटेड

पी जी पी एक्स प्रबंधकों से नेता बनाने के लिए अपने उद्देश्यों के साथ पूरी तरह से एकीकृत है। कक्षाओं के अंदर और बाहर असाधारण लोगों के साथ बातचीत और अपने क्षेत्रों में सबसे अच्छे लोगों से कुछ सीखना वास्तव में समृद्ध होना है। ‘क्लास रुम्स’ शब्द सबसे अधिक प्रासंगिक मुद्दों पर विचार विमर्श के साथ भावुक हरकत में ला देता है। पी जी पी एक्स ने मुझे एक वर्ष का मूल्यवान अनुभव प्रदान किया है।
- गौरीश प्रभु, 33 वर्ष, वरिष्ठ प्रबंधक विपणन, इनफ्रासॉफ्ट टेक्नोलॉजीज लिमिटेड

पी जी पी एक्स मेरे लिए जीवन बदलने वाला अनुभव था, जहाँ आप विश्वस्तर के प्रोफेसरों के मार्गदर्शन में विविध बैच के साथ सहयोग करते हैं। आपको नई संभावनाओं का अनुभव कराने के लिए लगातार अपने आराम के क्षेत्र से बाहर कर दिया जाता है। कुल मिलाकर, पी जी पी एक्स सीखने से बहुत कुछ अधिक है। यह आपके मन को मुक्त करनेवाला और व्यापार-जगत के नेताओं और स्वप्नदृष्टाओं के साथ संबंध बनाने वाला है।
- नीतिन शर्मा, 33 वर्ष, डी जी एम, व्यवसाय विकास और संगठनात्मक उत्कृष्टता, रेकैम आर पी जी लिमिटेड

आई आई एम-ए में पढ़ना एक चौतरफा अनुभव है। सीखना केवल कक्षा से नहीं होता, बल्कि उन सभी रास्तों से होता है जिन्हें हम शिक्षकों, छात्रों और उद्योग के साथ बातचीत से प्राप्त करते हैं। पाठ्यक्रम की कठिनता और संरचना को उन अनिश्चित चुनौतियों को ध्यान में रखकर डिज़ाइन किया गया है, जिनका हम कॉर्पोरेट दुनिया में सामना करते हैं। मुझे विश्वास है कि, मेरे जीवन में कुछ समय बाद जब मैं पीछे मुड़कर देखुँगा, तो मुझे यह एक साल सबसे सार्थक और यादगार अनुभव लगेगा।
- शंकर अन्नामलाई, 34 वर्ष, समाधान प्रबंधक-परामर्श, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज

सिर्फ 4 महीने में, हमने 20 पाठ्यक्रमों को पूरा किया है जो आई आई एम-ए के प्रसिद्ध प्रबंधन प्रोग्राम ब्लॉक्स बनाने का हिस्सा है। सख्ती से 15-20 केसों/पाठ्यक्रम को हल करना, बाकी समय में 4-5 वर्गीकृत रिपोर्ट प्रस्तुत करना, उन प्रश्नों से हैरान होना जिन्होंने न केवल हमारा परीक्षण किया, बल्कि हमारी मूल बातों तक को झिंझोड़कर रख दिया। इसमें अनुसंधान प्रोजेक्टों को पूरा करना, सत्र के अंत तक परीक्षा के लिए हड़बड़ी करना शामिल है। इन सबके बावजूद भी ब्लॉग लिखने के लिए समय निकालने; क्रिकेट/फुटबॉल/टी टी/ शतरंज खेलने ; फिल्मों / संगीत / टी वी का आनंद लेने, किताबें पढ़ने; नृत्य/ कैट वॉक जैसी टी-नाइट कार्यक्रमों में प्रतिस्पर्धा करने में असली मज़ा था। पी जी पी एक्स से निश्चित रूप से मेरे उत्पादकता दोगुनी हो गई है और यहाँ पर, हम इसे एक्स-प्रभाव कहते हैं।
- बीजू नायर, 37 वर्ष, वरिष्ठ लेखा प्रबंधक, सिन्टेल इंक

प्रतिभाशाली शिक्षकों द्वारा 700 से अधिक वर्षों के संग्रहित कार्य अनुभव के साथ एक वर्ग में हासिल हुए दृष्टिकोण ने पूरे अनुभव को बेमिसाल बना दिया। प्रोग्राम ने आज तेजी से बदलते अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर्यावरण अंतर्निहित जटिल आर्थिक और राजनीतिक बलों को समझने में मेरी मदद की है।
- रीटा गुप्ता, 33 वर्ष, महाप्रबंधक, राष्ट्रीय स्मार्ट सरकार संस्थान

कई बार आपको आत्मनिरीक्षण करने के और अपनी शक्तियों और क्षमताओं को दर्शाने के लिए एक वातावरण की ज़रूरत होती है, ताकि आप अपने हितों के लिए क्रमिक रूप में कार्य कर सकें, अपनी क्षमताओं का निर्माण कर सकें और आगे की परिकल्पनाओं को स्वीकार कर सकें। पी जी पी एक्स एक अच्छी तरह से संरचित शिक्षाशास्त्र प्रोग्राम है जो विविध संस्कृति और विविध क्षेत्रों से आएँ काफ़ी अनुभवसिद्ध सहयोगियों की टीम के साथ एक साल के काफ़ी छोटे अन्तराल में यह वातावरण प्रदान करता है।
- विकास माहेश्वरी, 34 वर्ष, नेता व्यावसायिक निर्माण, गैलेक्सी सरफैक्टेन्ट्स लिमिटेड, भारत

पी जी पी एक्स ने नए कौशल सीखने और पुराने अनुभवों को प्रतिबिंबित करने के लिए एक अद्वितीय मंच प्रदान किया है। जो मैंने यहाँ सीखा है वह मेरे लिए आजीवन मूल्यों का सर्जन करेगा। हालाँकि हमने अब तक जो कौशल सीखा है उसकी एक लंबी सूची बनाई जा सकती है, लेकिन मुझे लगता है कि मैं जिस सामान्य प्रबंधन की समस्या से गुजरा हूँ उस परिप्रेक्ष्य में यहाँ आकर जो बदलाव आया है वह सबसे अधिक मूल्यवान है।
- शालीन गर्ग, 36 वर्ष, पी एम ओ और सी ओ ई प्रमुख, नोवेलिस इंडिया इन्फोटेक लिमिटेड

मैं पी जी पी एक्स के दूसरे बैच का हिस्सा था। इस प्रोग्राम ने न केवल महत्वपूर्ण कौशल सीखने में मेरी मदद की, बल्कि मैक्किंज़े में मुझे परामर्शदाता की नौकरी भी प्रदान की, एफ एम सी जी के अपने कई वर्षों के अनुभव ने एक बड़ा स्विच प्रदान किया। मुझे यकीन है कि पी जी पी एक्स का एम बी ए में बहुत जल्द एशियाई शीर्ष-5 और वैश्विक शीर्ष-20 में स्थान होगा।
- राजू कोमारावोलु, एसोसिएट, मैक्किंज़े एंड कंपनी

प्रवेश से पूर्व कॉर्पोरेट जगत में हमारे द्वारा अनुभव की गई 'असली' समस्याओं ने कोर्स के दौरान सिखाई अवधारणाओं को समझने, सराहना करने और स्वीकार करने में हमारी मदद की। हमारा अनुभव वर्ग खंड-चर्चाओं और केस विश्लेषण के लिए असली दुनिया का स्पर्श लाता है। निश्चित रूप से इसका डिजाइन कंपनियों के भावी नेताओं के निर्माण करने में प्रभावी और मज़बूत है।
- सुदीप्तो मुखर्जी, महाप्रबंधक, विपणन, लोम्बार्डिनी इंडिया प्रा. लिमिटेड