Logo text

होम » प्राध्यापक एवं अनुसंधान » प्राध्यापक » वैश्विक शिक्षण

वैश्विक शिक्षण

आई आई एम- के पास व्यवसाय प्रबंधन में शिक्षण के उच्चतम मानक स्थापित करने के लिए दुनिया के बेहतरीन संकाय, प्रतिष्ठित शिक्षाविद, प्रख्यात उद्यमी, सिद्धांत प्रेमी और विद्वान हैं।   आधे से अधिक संकाय सदस्यों के पास प्रमुख प्रबंधन संस्थानों / विदेशी विश्वविद्यालयों की पी-एच डी उपाधि हैं। 

आईआईएम- में अधिकांश संकायों के पास देश और विदेश में लंदन बिजनेस स्कूल, ऑस्टिन में टेक्सास विश्वविद्यालय, मेकजील विश्वविद्यालय, त्यूलान विश्वविद्यालय, और एमहर्स्ट में मैसाचुसेट्स विश्वविद्यालय जैसे प्रतिष्ठित बिजनेस स्कूलों में पहले से ही समृद्ध अनुभव है। इसके अलावा, आईआईएम- में शामिल होने से पहले, उनमें से कुछ संकायों ने अमेरिका में एच पी, ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका में रोल्स रॉयस, दक्षिण पूर्व एशिया में एएफ फर्ग्यूसन और अमेरिका में मिशेल मैडिसन जैसी कंपनियों के साथ काम किया है। संकाय सदस्यों में से कई संकायों ने आईआईएम- में आने से पहले विभिन्न सरकारी संगठनों के साथ भी काम किया हुआ है।

इस के अलावा, ये संकाय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशेषज्ञता के अपने क्षेत्र में भी सक्रिय रूप से अनुसंधान में और लेखकों के रूप में शामिल है। परिणाम स्वरूप संकाय सदस्यों के पास पिछले पंद्रह वर्षों में ये सिद्धियाँ प्राप्त हैं: 

  • 95 अंतरराष्ट्रीय मामलों का लेखन 
  •
अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में 459 पेपरों की प्रस्तुति 
  •
अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं में 405 पेपरों का लेखन 
  •
अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं/सम्मेलनों के लिए 102 बार पांडुलिपियों की समीक्षा 
  • 75
बार अंतरराष्ट्रीय प्रबंधन विकास में संकाय के तौर पर भाग लिया है। 
  
इसके अलावा, ज्यादातर संकाय सदस्यों ने विशेष रूप से अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों और संगठनों द्वारा वित्त पोषित परियोजनाओं पर और / या विदेशी मूल की परियोजनाओं के लिए परामर्श और सहयोगी का काम किया है। हर साल संकाय अंतरराष्ट्रीय अनुसंधान मंच के साथ संपर्क में रहने के लिए अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में भाग लेते हैं। 

संकाय सदस्य अंतर्राष्ट्रीय एम डी पी का भी संचालन करते हैं। कार्यकारी शिक्षा आई आई एम- का एक और महत्वपूर्ण कार्यक्रम है, जो संकाय सदस्यों को कॉर्पोरेट जगत के साथ जोड़ता है। इन वर्षों में, हमारे संस्थान ने भारत में कार्यकारी शिक्षा के क्षेत्र में अपने आपको अधिनायक के रूप में स्थापित किया है। पिछले कुछ वर्षों में, संस्थान ने पश्चिम एशिया और पूर्व एशिया के देशों के लिए भी कार्यकारी शिक्षा पढ़ाई है। संस्थान ने एस एस सी, ड्यूक और एचबीएस सरकार के केनेडी स्कूल जैसे अन्य बिजनेस स्कूलों के साथ सहयोग में भी कार्यकारी कार्यक्रम का आयोजन शुरू किया है। संस्थान के लगभग सभी संकाय कार्यकारी शिक्षा कार्यक्रम के संचालन में शामिल है। इस कार्यक्रम में यदि विश्व के अभ्यास की आवश्यकता होती है तो अपेक्षित नीति अमल  में लाने के लिए बाहरी संकाय को भी बुलाया जाता है। 

संकाय का, प्रबंधन अभ्यास की दुनिया में व्यापक नाम है। शुरुआत से ही परामर्श हमेशा के लिए आई एम- की गतिविधियों का एक अभिन्न हिस्सा रहा है। आई आई एम- की शुरुआत से ही परामर्श की उत्पत्ति और परिचालन को बहुत अच्छी तरह से वर्णित किया गया हैं। 

परामर्श
का दोहरा उद्देश्य है: (1) असली दुनिया की प्रबंधकीय समस्याओं पर संकाय के काम के माध्यम से प्रबंधन के तरीकों में सुधार करना, और (2) संकाय के पेशेवर विकास के लिए योगदान करना। हर नई परियोजना सलाहकार को अपने विचारों और मॉडल परीक्षण करने और दुनिया की असली स्थितियों के बारे में उनकी समझ में सुधार प्रदान करने का एक अवसर प्रदान करती है। व्यावसायिक विकास के हित में संकाय परियोजनाओं के दोहराव  के उपक्रम से हतोत्साहित होते हैं, जिनमें  सीखने का मूल्य कम है, फिर भी ग्राहकों को इस तरह के काम से बहुत लाभ हो सकता है। 


संकाय निगमों के निर्णय लेने के उच्चतम स्तर की प्रक्रिया में भी भाग लेते हैं। कई संकाय सदस्य स्वतंत्र निदेशक के रूप में संगठनों के बोर्डों में सेवा कर रहे हैं।

एक
व्यापक परिप्रेक्ष्य, दुनिया भर से अत्याधुनिक प्रबंधन प्रथाओं और उद्योग की जरूरतों को सक्षम बनाती मौजूदा पाठ्यक्रम सामग्री आदि सिर्फ थोड़े ही ऐसे लाभ है जो कि आई आई एम- में छात्रों के लिए अर्जित किये गये हैं।