Logo text

होम » प्राध्यापक एवं अनुसंधान » क्षेत्र (एरिया) और समूह » अर्थशास्त्र

अर्थशास्त्रc

इस क्षेत्र के सदस्य, विषयों की एक किस्म पर  अनुसंधान और प्रकाशन करते हैं। नीति से संबंधित  कार्य इसका एक 
बड़ा हिस्सा गठित करता है और इस क्षेत्र के संकाय बड़े पैमाने पर सार्वजनिक नीति तैयार करने तथा मूल्यांकन में शामिल 
हैं।सदस्य कृषि, लघु क्षेत्र, बौद्धिक संपदा अधिकार, प्रतियोगिता, विदेशी प्रत्यक्ष निवेश, प्रौद्योगिकी और राज्य के स्वामित्व
वाले उद्यमों और व्यापक वृहद आर्थिक संदर्भ में व्यक्ति नीति के उपकरणों के विश्लेषण संबंधी नीतियों की प्रभावकारिता और तर्क  का पता लगाते हैं।  हाल के अध्ययनों में सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों के निजीकरण और वित्तपोषण से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर 
और सार्वजनिक क्षेत्र के विनियामक और अन्य बाधाओं पर क्षमता के लिए ध्यान केंद्रित किया है। प्रतिस्पर्धा कानून नीति और
क्षेत्र विशेष विनियमन के बीच संबंधोंका पता लगाया जा रहा है। इसके अलावा, पूँजी बाजार, कराधान, घाटा वित्तपोषण, विदेशी मुद्रा 
प्रबंधन से संबंधित मुद्दों, भुगतान संतुलन और भारतमें व्यापक राजकोषीय और मौद्रिक नीति के क्षेत्रों में महत्वपूर्ण अनुसंधान किया जा रहा है। 
राजकोषीय नीति में सुधार पर काम के लिए अच्छी तरहसे राष्ट्रीय के साथ साथ एक राज्य स्तरीय ध्यान केन्द्रित किया गया है। हाल के वर्षों में काम का महत्वपूर्ण क्षेत्र बुनियादी ढाँचे से संबंधित मुद्दों का विश्लेषण रहा है। नीति संबंधी काम का एक अन्य हिस्सा विभिन्न नीतिगत पहलों को स्थिर स्तर  पर प्रतिक्रियाओं की जाँच करना है। अन्य 
स्थिर स्तर का अनुसंधान निर्धारकों, गुंजाइश, और अंतर कम्पनी और अन्य गठबंधनों के प्रभाव में उद्यम की 
क्षमताओं के निर्माण पर केंद्रित है। निर्यात व्यवहार और फर्मों के प्रदर्शन के अवधारक भी स्थिर स्तर के अनुसंधान का एक महत्वपूर्ण क्षेत्र हैं।


इस क्षेत्र में अनुसंधान भी भारत में आर्थिक विकास, देश की विकास के स्वरुप में प्रादेशिक असमानताएँ और विकासशील देशों के विकास के अंतर आदि का पता लगाया गया है।ग्रामीण विकास, रोजगार, उद्यमशीलता और औद्योगिक समूहों से संबंधित अध्ययन भी किए जाते हैं। सहयोग पर अनुसंधान का एक भाग संपदा अधिकारों और प्रोत्साहन संरचनाओं से संबंधित मुद्दों पर केंद्रित है। भूमंडलीकरण और विश्व व्यापार संगठन की रोजगार, गरीबी, और वस्त्र और दवा उद्योग जैसे विशिष्ट क्षेत्रों पर वार्ता के प्रभाव पर भी कार्य शुरू किया गया है। अनुसंधान भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए ही सीमित नहीं है। अध्ययन पूर्व एशिया, चीन, राष्ट्रमंडल और अन्य देशों में विकास का विश्लेषण पर भी किये जाते हैं। 
उपर्युक्त दर्शाये अनुसंधान में से अधिकांश में माध्यमिक और प्राथमिक डेटा के कठिन विश्लेषण शामिल है। परिणामस्वरुप, इस क्षेत्र में अनुसंधान का माप और एक सतत् आधार पर अनुमान से संबंधित मुद्दों के साथ घर्षण होता रहता है। जबकि अधिकांश अनुसंधान प्रकृति से अनुभव सिद्ध है, काम का एक महत्वपूर्ण अंग है, जो तर्कसंगत विकल्प, सामाजिक चुनाव और समाज कल्याण आर्थिक सिद्धांत के साथ संबंधित है। इस क्षेत्र में अनुसंधान का प्रमुख ध्यान निष्पक्ष विभाजन समस्याओं में और चुनाव के सिद्धांत में सामाजिक पसंदगी नियमों के स्वयंसिद्ध निरुपण पर केंद्रित किया गया है। भ्रष्टाचार के सैद्धांतिक आधार पर भी कुछ काम शुरू किया गया है।



पाठ्यक्रम की सूचि 
पीजीपी :  अनिवार्य पाठ्यक्रम  
     सूक्ष्म अर्थशास्त्र 
     
बृहत्अर्थशास्त्र और नीति 
     
अर्थशास्त्रीय पर्यावरण और नीति 

पीजीपी  ऐच्छिक 
     संगठन का अर्थशास्त्र (ईओओ)
     रणनीतियों का अर्थशास्त्र (ईओएस) - (संयुक्त एरिया पाठ्यक्रम) 
     खेल सिद्धांत और अनुप्रयोग (जीटीए) 
     विकसित राष्ट्रों में श्रम बाजार (एलएमडीसी) 
     मौद्रिक सिद्धांत और नीति (एमटीपी) 
     
पीजीपीएक्स 
   कम्पनियाँ और बाजार (एफ़पीएम) 
   मुक्त अर्थव्यवस्था मैक्रोइकोनोमिक्स (ओईएम)
   अंतरराष्ट्रीय अर्थशास्त्र और राजनीतिक पर्यावरण (आईईपीई) 
एफ़पीएम
 अनिवार्य पाठ्यक्रम  
    एडवान्स्ड मैक्रोइकोनोमिक्स 
    एडवान्स्ड माइक्रोइकोनोमिक्स 
    अर्थमिति
 

    एफपीएम :  ऐच्छिक 
    आर्थिक विकास और वृद्धि (ईडीजी) – (संयुक्त क्षेत्र पाठ्यक्रम)
    सार्वजनिक वित्त (पीएफ़) - (संयुक्त क्षेत्र पाठ्यक्रम) 
    मैक्रोइकोनोमिक्स एवं वित्त के लिए समय श्रेणी पद्धति (टीएसएम) - (संयुक्त क्षेत्र पाठ्यक्रम

एरिया सदस्य

प्राथमिक संकाय सदस्य

प्रोफेसर एर्रोल डीसूज़ा
 <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर रवीन्द्र एच धोलकिया <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर राकेश बसंत <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर सेबास्तियन मोरिस <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर सतीष वाय देवधर <Turn on JavaScript!
प्रोफेसर विश्वनाथ पिंगली <Turn on JavaScript!>

गौण संकाय सदस्य

प्रोफेसर अरविंद सहाय
 <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर अंकुर सरिन <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर प्रेम पंगोत्र <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर समर के दत्त <Turn on JavaScript!>
 प्रोफेसर टी टी राममोहन <Turn on JavaScript!>
प्रोफेसर विनीत विरमाणी <Turn on JavaScript!

अकादमिक सहयोगी 

सुश्री विजया राजेश्वरी <Turn on JavaScript!>
सन्नी भूषण  <Turn on JavaScript!
सुश्री आर. रीमा <Turn on JavaScript!
सुश्री फोरम मेहता <Turn on JavaScript!

एरिया सचिव 

श्री एस. सुंदरराजन <Turn on JavaScript!