Logo text

होम » संस्थान » परिसर » छात्र गतिविधियाँ » क्लब » ऐंत्र: उद्यमिता क्लब

ऐंत्र: उद्यमिता क्लब

उद्यमिता क्लब मार्टिन लूथर किंग के भाषण - "मेरा एक सपना है" से प्रेरित उन सभी के लिए एक ऐलान की तरह है। इस क्लब की स्थापना उभरते अथक उद्यमियों के लिए की गई थी, जो गैरेज और बंदरगाहों में एक मशीन के रूप में काम करके अपने खुद के कॉर्पोरेट साम्राज्य के निर्माण की महत्वाकांक्षा रखते हैं। सौभाग्य से, ऐंत्र की सहायता से वे उनके इसी राह से चले पुरोगामी से मार्गदर्शन और अनुभव का लाभ ले सकते हैं।
क्लब कारोबार में छात्र पहल को बढ़ावा देता है और जो अनुकरण के लिए उत्सुक दूसरों को युक्तियाँ दे सकें, वैसे सफल उद्यमियों के साथ बातचीत के लिए भी व्यवस्था करता है।

क्लब में (नये विचार) नामक अपनी वार्षिक उद्यमिता कार्यशाला भी आयोजित की जाती हैं, जिसमें डॉ आर ए माशेलकर- निदेशक, सी एस आई आर, श्री महेश मूर्ति (जुनून कोष), श्री चिराग मेहता (आईसनेट), श्री सौरभ सोपारकर (एडवोकेट, जी एच सी संकाय), और श्री हर्ष कौल (महाप्रबंधक, सिडबी अहमदाबाद) जैसी प्रमुख हस्तियों द्वारा शोभा बढ़ाई जाती है। यहाँ भारत भर से नवीन विचारों को बढ़ावा देने और पहचान बनाने के लिए आई आई एम-ए इनक्यूबेटर सेल के सहयोग से एक अद्वितीय प्रतियोगिता "अन्वेषण" के दो संस्करणों का आयोजन किया जाता है।

ऐंत्र - उद्यमिता क्लब के बारे में अधिक जानकारी के लिए  यहाँ क्लिक करें।