Logo text

होम » प्राध्यापक एवं अनुसंधान » अनुसंधान केन्द्र » सीईजी

इलेक्ट्रॉनिक-शासन के लिए केंद्र (सी ई जी)

इलेक्ट्रॉनिक शासन केंद्र (सी ई जी) भारतीय प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद अक्टूबर 1999 में (आई आई एम-ए) में स्थापित किया गया था। यह केंद्र आई आई एम-ए द्वारा तीन वर्ष की (पहला चरण) एक प्रारंभिक अवधि के लिए चार प्रमुख आई टी कंपनियों के समर्थन - ओरेकल इंडिया प्रा. लिमिटेड, एच पी (पूर्व कॉम्पैक) भारत प्रा. लिमिटेड, एस सी ओ इन्डिया और सी एम सी लिमिटेड – के सहयोग से स्थापित किया गया था ।

पहले चरण के दौरान, इस केंद्र के उद्देश्यों को 'अवधारणा का सबूत' आद्य प्रकारों के विकास के लिए पहचान करना था जिसमें अनुप्रयोग और नौकरशाहों तथा अन्य हितधारकों के बीच ई शासन के सफल क्रियान्वयन के लिए ज्ञान, कौशल के प्रसार के लिए पहचान अनुप्रयोग शामिल थे। पहले चरण में हासिल की सफलता के बाद केंद्र ने अपने संसाधनों के साथ तीन और वर्षों के लिए अपने अनुसंधान गतिविधियाँ (द्वितीय चरण, अक्टूबर 2005 तक) जारी रखने का फैसला किया ।

द्वितीय चरण में, सी ई जी ने मुख्य रूप से ज्ञान प्रसार की गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित किया और भारत में ई-शासन पर एक ज्ञान संसाधन के रूप में अपने प्रवेश मार्ग का विकास किया। केंद्र के मुख्य उद्देश्य में निहित गतिविधियों के अलावा ई-शासन तत्परता, परियोजना प्रस्तावों, और अन्य संबंधित गतिविधियों के मूल्यांकन के लिए तंत्र में अनुसंधान किए गए।

यह केन्द्र वर्तमान में सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (डी आई टी), भारत सरकार की केंद्रीय एजेंसी समन्वय है, जो राष्ट्रीय योजना ई-शासन (एन ई जी पी) के लिए उसको मदद कर रहा है। इससे एन ई जी पी के त्रिस्तरीय मूल्यांकन कार्यक्रम को डिज़ाइन व लागू किया जायेगा। मूल्यांकन कार्यक्रम के पहले चरण के दौरान, केंद्र ने पूरे भारत से तीन राज्य स्तरीय और तीन राष्ट्रीय स्तर केंद्रीय सरकारी विभागों और एजेंसियों द्वारा कार्यान्वित परियोजनाओं में इलेक्ट्रॉनिक सरकारी परियोजनाओं का एक विस्तृत प्रभाव आकलन अध्ययन किया।


ज़्यादा जानकारी के लिए संपर्क करें -:

समन्वयक, इलेक्ट्रॉनिक अभिशासन केंद्र,
भारतीय प्रबंध संस्थान,
वस्त्रापुर, अहमदाबाद - 380015.
दूरभाष: +91-79-6632-4128
ई-मेल: Turn on JavaScript!
यूआरएल: http://www.iima.ac.in/egov/