Logo text

होम » कार्यक्रम » प्रवेश विवरण » ​प्रवासी भारतीय उम्मीदवारों के लिए प्रवेश प्रक्रिया (2017-19 बैच)​

विदेशी उम्मीदवार

प्रबंधन में स्नातकोत्तर कार्यक्रम (2017-2019 बैच)
विदेशी उम्मीदवारों के लिए प्रवेश प्रक्रिया
 
 
विदेशी उम्मीदवारों के दाखिले की हमारी प्रक्रिया 01 अक्टूबर 2016 से शुरू हुई है। कृपया अपने आवेदन इस तरह भेजें कि वे हमें 01 अक्टूबर 2016 को ही या बाद में मिलें।
 
विदेशी भारतीय उम्मीदवारों से आवेदन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तिथि: 15 दिसंबर, 2016
 

भारत से बाहर रहने वाले भारतीय और विदेशी नागरिक, " विदेशी उम्मीदवारों" की श्रेणी के अंतर्गत आते हैं। विदेश में भारतीय निवासी होने के लिए उम्मीदवार को भारतीय होना चाहिए, जिसके 15 दिसंबर, 2016 को लगातार कम से कम 12 महीनों के लिए भारत के बाहर काम या अध्ययन के लिए रहने की उम्मीद हो। उन्हें संस्थान की सामान्य प्रवेश परीक्षा (कैट) देनी होगी। प्रवेश प्रक्रिया के दूसरे चरण, यानी व्यक्तिगत साक्षात्कार, भारत में आयोजित किया जाएगा। इस चरण के लिए बुलाये गए उम्मीदवार अपनी यात्रा की व्यवस्था खुद करेंगे और "विदेशी उम्मीदवार" श्रेणी के लिए योग्य सबूत प्रस्तुत करेंगे।
प्रबंधन में स्नातकोत्तर कार्यक्रम (पी जी पी)  संस्थान के अध्यापन कार्यक्रमों में सबसे प्रतिष्ठित और सबसे पुराना  कार्यक्रम है। अपने 2010 रैंकिंग्स में एम एससी (प्रबंधन) श्रेणी में फ़ायनान्सियल टाइम्स  द्वारा वैश्विक स्तर पर 8वाँ और देश में सर्वोत्तम रैंक प्राप्त करने वाले कार्यक्रम पी जी पी में नवाचारी समस्या निराकरण, सहभाजित परिप्रेक्ष्य, अनुप्रयुक्त प्रबंधन दर्शन, और प्रेरक समूह कार्य पर जोर दिया गया है। पी जी पी में पर्यावरण की एक किस्म के साथ व्यवसायों में आ रही वास्तविक जीवन की असंरचित समस्याओं व चुनौतियों को निरंतर रूप से प्रकाश में लाते हुए, व्यवसायी प्रबंधकों को सक्षम बनाने का लक्ष रखा गया है। पी जी पी अपने छात्रों में मजबूत समस्या निराकरण कौशलों और एक ठोस सामरिक दृष्टिकोण का विकास करता है। यह छात्रों को विश्लेषणात्मक उपकरणों, व्यापार दर्शन, प्रबंधन स्थितियों की एक किस्म से भी ऊजागर करता है, इस तरह से व्यवसाय के आर्थिक, प्रौद्योगिकीय, सांस्कृतिक, और राजनीतिक पहलुओं पर वैश्विक दृष्टिकोण का विकास करने में उनको सक्षम बनाता है। भा.प्र.सं.अ. का पी जी पी दो वर्षीय शैक्षणिक कार्यक्रम है, और यह व्यवसायिक प्रशासन में स्नातकोत्तर (एमबीए) डिग्री के समकक्ष माना जाता है। 
 
प्रत्येक शैक्षणिक वर्ष जून /जुलाई में शुरू होता है और मार्च /अप्रैल में पूर्ण होता है, और प्रत्येक के छः स्लोट होते हैं। प्रथम शैक्षणिक वर्ष के अंत में ग्रीष्मावकाश का उपयोग छात्रों के संगठनात्मक उन्मुखीकरण हेतु किया जाता है। दूसरे शैक्षणिक वर्ष का अंत आने तक नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो जाती हैं। 
 
 
उम्मीदवार के पास भारत में केंद्रीय या राज्य विधानसभा अधिनियम द्वारा निगमित विश्वविद्यालयों या संसद के एक अधिनियम द्वारा स्थापित अन्य शिक्षण संस्थानों या विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम, 1956 की धारा 3 के तहत घोषित विश्वविद्यालय की कम से कम 50% अंक के साथ स्नातक की डिग्री या समकक्ष सी जी पी ए (अनुसूचित जाति (एस सी) / अनुसूचित जनजाति (एस टी) और विशिष्टतया योग्य श्रेणी (डी ए) से संबंधित उम्मीदवारों के मामले में यह 45% है), या भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त समकक्ष योग्यता हो। उम्मीदवार द्वारा प्राप्त स्नातक की डिग्री या समकक्ष योग्यता उच्चतर माध्यमिक (10 +2) शिक्षा या समकक्ष पूरा करने के बाद न्यूनतम तीन वर्ष की शिक्षा पूरा करना आवश्यक होगा। स्नातक की डिग्री में उम्मीदवार द्वारा प्राप्त प्रतिशतता उस विश्वविद्यालय/संस्था द्वारा पालन की जा रही प्रक्रिया के आधार पर होगी, जहाँ से उम्मीदवार ने डिग्री हासिल की है। जिन उम्मीदवारों को अंकों के बजाय ग्रेड/सी जी पी ए दिया जा रहा है, वहाँ तुल्यता विश्वविद्यालय/संस्था द्वारा प्रमाणित तुल्यता के आधार होगी, जहाँ से उन्होंने स्नातक की डिग्री प्राप्त की है। जिस विश्वविद्यालय/संस्था में सी जी पी ए को तुल्य अंकों में परिवर्तित करने की कोई योजना नहीं है, वहाँ तुल्यता आई आई एम-ए द्वारा अधिकतम संभव सी जी पी ए के साथ प्राप्त सी जी पी ए को विभाजित करके और परिणाम को 100 से गुणा करके तय की जाएगी।
 
स्नातक डिग्री के अंतिम वर्ष / समकक्ष योग्यता परीक्षा में भाग लेने वाले उम्मीदवार और जिन्होंने आवश्यक डिग्री पूरी कर ली है और परिणामों का इंतजार कर रहे हैं, वे भी आवेदन कर सकते हैं। ऐसे उम्मीदवारों को प्रधानाचार्य/ विभागाध्यक्ष/ रजिस्ट्रार / विश्वविद्यालय / संस्था के निदेशक से प्रमाण पत्र लाना होगा कि उम्मीदवार अंतिम वर्ष में है / अंतिम परिणाम का इंतजार कर रहा है और नवीनतम उपलब्ध ग्रेड/ अंक के आधार पर कम से कम 50% अंक या समकक्ष प्राप्त किए हैं (अनुसूचित जाति / जनजाति / डी ए वर्ग से संबंधित उम्मीदवारों के मामले में 45%)। ऐसे उम्मीदवारों का चयन होने पर उन्हें प्रोग्राम में शामिल होने की अस्थाई अनुमति तभी दी जाएगी, जब वे 30 जून 2012 तक अपने कॉलेज / संस्थान के प्रधानाचार्य / रजिस्ट्रार से (30 जून, 2012 या इससे पहले जारी) इस आशय का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करेंगे कि प्रमाण पत्र जारी करने की तारीख पर स्नातक की डिग्री / समकक्ष योग्यता प्राप्त करने के लिए सभी आवश्यकताओं को पूरा कर लिया है (या फिर, परिणाम का इंतजार कर रहे हैं)। उनके प्रवेश की पुष्टि तभी की जाएगी जब उम्मीदवार प्रधान/रजिस्ट्रार द्वारा जारी प्रमाणपत्र में निर्दिष्ट अंक सूची और स्नातक की डिग्री / समकक्ष योग्यता कम से कम 50% अंक (अनुसूचित जाति / जनजाति / डी ए श्रेणी से संबंधित उम्मीदवारों के मामले में 45%) पास कर लेने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करेंगे । अंक सूची और प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए समय सीमा 31 दिसंबर 2012 है। इस शर्त को पूरा नहीं करने पर अन्तिम प्रवेश स्वतः रद्द हो जाएगा। आई आई एम-ए 30 जून 2012 से पहले स्नातक की डिग्री के लिए सभी आवश्यकताओं को पूरा करने में असमर्थ किसी भी उम्मीदवार को अपने प्रोग्राम में शामिल होने की अनुमति नहीं देगा। आई आई एम-ए 30 जून 2012 के बाद किसी भी उम्मीदवार को प्रवेश भी नहीं देगा।
 
 
प्रथम वर्ष का पाठ्यक्रम अनिवार्य है और इसमें लेखा, वित्त, व्यवहार विज्ञान, संचार, अर्थशास्त्र, सूचना प्रौद्योगिकी, विपणन, कार्मिक प्रबंधन और औद्योगिक संबंध, परिचालन प्रबंधन, और मात्रात्मक पद्धतियों के बुनियादी कार्यात्मक क्षेत्रों को शामिल किया गया है। पहले साल के अंत में, छात्र ग्रीष्मकालीन कार्य पर आठ से दस सप्ताह तक किसी संगठन में काम करता है। दूसरे वर्ष के पाठ्यक्रम में छात्रों को उनकी विशेष रुचि के क्षेत्रों में अध्ययन का अवसर प्रदान किया जाता है। इसलिए, दूसरे वर्ष के सभी पाठ्यक्रम ऐच्छिक हैं। यह दृष्टिकोण छात्रों को प्रबंधन की समस्याओं को सुलझाने में एक एकीकृत दृष्टिकोण विकसित करने में मदद करता है।

विश्वभर में बावन से ज्यादा साथी संस्थानों के साथ संस्थान का एक विनिमय कार्यक्रम चलता है। प्रत्येक वर्ष, बैच के छात्रों का एक तृतियांश हिस्सा विश्व के श्रेष्ठ प्रबंधन संस्थानों के साथ एक सत्र व्यतीत करता है। इसी तरह, एक सत्र के लिए ऐसे संस्थानों से छात्र भा.प्र.सं.अ. में अध्ययन करने के लिए आते हैं। छात्र विनिमय कार्यक्रम से भा.प्र.सं.अ. के छात्र विभिन्न संस्कृतियों व काम के वातावरण में काम करने के लिए समर्थ बनते हैं और उनमें अधिक पूर्णतावादी दृष्टि का विकास होता है। इससे शैक्षणिक संस्थानों के विचारों एवं ज्ञान को मुक्त प्रवाह मिलता है, एक अंतरराष्ट्रीय महक एवं परिप्रेक्ष्य वर्गखंड में जुड़ते हैं और विदेश में काम करने के लिए छात्र तैयार होते हैं।
तीन यूरोपियन संस्थानों के साथ भी अपने संस्थान की डबल डिग्री कार्यक्रम के लिए व्यवस्था रहती है। डबल डिग्री कार्यक्रम को पूर्ण करने वाले छात्रों को भा.प्र.सं.अ. से और साथ ही साथ भागीदार संस्थान की ओर से डिप्लोमा /डिग्री दिया जायेगा। 
 
 
आई आई एम अहमदाबाद में 2012-14 के पी जी पी के बैच में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों के चयन के लिए दो-चरण वाली प्रक्रिया है।
 
पहले चरण में जिनके पास मान्य कैट/ जीमेट स्कोर2 है, जिन्होंने कार्यक्रम के लिए आवेदन किया है और जो पात्रता के मानदंडों से संतुष्ट करते हैं ऐसे उम्मीदवारों को व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए लघुसूचित किया जाता है।   देशी उम्मीदवार जिन्होंने कैट स्कोर के साथ आवेदन किया हो, उन्होंने लघुसूचिकरण के लिए कैट के दोनों अनुभागों में अच्छा निष्पादन करना होगा। जिस विदेशी उम्मीदवार ने कैट के बदले जीमैट स्कोर के साथ आवेदन किया हो, उनके पास कम से कम कुल 700 स्कोर का पैमाना रखना होगा।  उम्मीदवार के पहले के शैक्षणिक रिकोर्ड को भी लघुसूचिकरण प्रक्रिया में गिना जाता है।     

लघुसूचीकरण का मानदंड :
70% जोर कैट /जीमैट स्कोर पर दिया जाता है और 30% जोर आवेदन दर्ज़ा अंक पर दिया जाता है।
आवेदन दर्ज़ा (एआर): 2012-14
 
दर्ज़ा अंक
1
2
3
(क)
10वीं कक्षा परीक्षा में प्रतिशत अंक
<60
60-80
80+
(ख)
12वीं कक्षा परीक्षा में प्रतिशत अंक
<60
60-80
80+
(ग)
स्नातक उपाधि परीक्षा में प्रतिशत अंक
<60
60-80
80+
(घ)
मास्टर उपाधि परीक्षा में प्रतिशत अंक
<60
60-80
80+
(ङ)
कार्य अनुभव
<1 वर्ष
1-2 वर्ष
2+ वर्ष
  • अपूर्ण स्नातक उपाधि वाले आवेदकों के प्रतिशत उनके उपलब्ध गुणों के आधारित हैं।
  • जिन उम्मीदवारों ने मास्टर की उपाधि पूर्ण की है उन पर ही विचार किया जाता है। जिन्होंने एक से अधिक मास्टर उपाधि प्राप्त की हैं उनके उच्चतम प्रतिशत का उपयोग किया जाता है।
  • जिन उम्मीदवारों ने सीए /आइसीडबल्यूएआइ स्नातक की उपाधि के बिना पायी है, उनके इन्टर की औसत और अंतिम स्तर के गुणों को स्नातक उपाधि के गुणों के रूप में माना जायेगा।
आवेदन दर्ज़ा अंक: (एxबीxसी) +डी+ई
दूसरे चरण में, प्रथम चरण के व्यक्तिगत साक्षात्कार के समापन के बाद इसमें उपस्थित रहे उम्मीदवारों का चयन पीजीपी 2012-14 बैच के लिए किया जाता है। यह सूची तैयार करने के लिए व्यक्तिगत साक्षात्कार में उनके निष्पादन के अलावा, कैट/ जीमेट अंक, शैक्षणिक निष्पादन और सिद्धियाँ, इतर गतिविधियाँ, और उपाधि-उत्तर कार्य अनुभव भी विचार में लिये जाते हैं।
 चयन का मानदंड:
70%  महत्व व्यक्तिगत साक्षात्कार अंकों पर दिया जाता है 30% महत्व कैट/ जीमेट स्कोर2 पर दिया जाता है। (नोट: व्यक्तिगत साक्षात्कार अंक निम्न पर आधारित होते हैं: व्यक्तिगत साक्षात्कार में प्रदर्शन, शैक्षणिक प्रदर्शन और सिद्धियाँ, अभ्यासेतर गतिविधियाँ और उपाधि के बाद का कार्य अनुभव।)
 
अपने पीजीपी के लिए भा.प्र.सं.अ. द्वारा जो प्रवेश प्रक्रिया अपनाई जाती है उसके बारे में सूचना निम्नानुसार दी गई हैं। इसलिए यह आवश्यक है कि उम्मीदवार इसे ध्यानपूर्वक पढ़ें।
 
  1. इस प्रवेश प्रक्रिया में कैट/ जीमैट में निष्पादन ही एक महत्त्वपूर्ण तरीका है। उम्मीदवारों को यह ध्यान रखना चाहिए कि इस परीक्षा के प्रत्येक अनुभाग में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। कैट/ जीमैट में प्रदर्शन के अलावा, भा.प्र.सं.अ. व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए (ऊपर दिये गये विवरण को देख लें) उम्मीदवारों के लघुसूचीकरण एवं रैंकिंग के लिए शैक्षणिक प्रदर्शन, संबंधित कार्य अनुभव और ऐसे ही अन्य तरीकों को ध्यान में लेता है।
  2. कृपया ध्यान दें कि अन्य भा.प्र.संस्थानों से अलग स्वतंत्र रूप से भा.प्र.सं.अ. व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) के लिए उम्मीदवारों का लघुसूचीकरण करता है। इसलिए विभिन्न भा.प्र.संस्थानों में लघुसूचीकृत उम्मीदवारों में विविधता देखी जा सकती हैं।
  3. जनवरी 2012 में भा.प्र.सं.अ. के वेबसाइट www.iima.ac.in पर लघुसूचीकृत उम्मीदवारों का विवरण उपलब्ध किया जायेगा। संस्थान द्वारा साक्षात्कार बुलावा पत्र भी लघुसूचीकृत उम्मीदवारों को भेजा जायेगा। लघुसूचीकृत विदेशी उम्मीदवारों को जनवरी 2012 में इमेल के माध्यम से सूचित किया जायेगा। जिन उम्मीदवारों को व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए लघुसूचीकृत नहीं किया गया हैं उनसे कोई पत्राचार नहीं किया जायेगा।
  4. व्यक्तिगत साक्षात्कार दौरे के बाद, सफल उम्मीदवारों को भा.प्र.सं.अ. द्वारा प्रवेश की पेशकश की जाती है। रैंकिंग और अंतिम चयन विविध विशेषताओं पर आधारित रहते हैं, जिसमें कैट/ जीमैट का निष्पादन, व्यक्तिगत साक्षात्कार का, शैक्षणिक, पाठ्यक्रम सहित, अतिरिक्त पाठ्यक्रम सिद्धियाँ, कार्य अनुभव इत्यादि का प्रदर्शन, शामिल हैं।
  5. प्रवेश प्रक्रिया के बारे में सूचना का प्रकटीकरण संस्था द्वारा संचालित है जो कभी कभी परस्पर विरोध रखता है। भा.प्र.सं.अ. प्रवेश प्रक्रिया पारदर्शी बनी रहे ऐसा ही चाहता है। तो दूसरी तरफ दुरुपयोग को रोकना व उम्मीदवार की व्यक्तिगत गोपनीयता एवं विश्वसनीयता को सुरक्षित रखना भी भा.प्र.सं.अ. चाहता है। इन्हीं विचारों के आधार पर किसी व्यक्ति के प्रदर्शन को अन्य व्यक्ति के सामने उपलब्ध नहीं किया जाता है। इसी तरह, ऊपर दर्शाये अनुच्छेद 4 के तहत विशेषताओं के आकलन सहित व्यक्तिगत साक्षात्कार में उम्मीदवार के प्रदर्शन आदि के बारे में प्रवेश /चयन प्रक्रिया में भाग ले रहे पेनलिस्टों पर अनुचित दबाव आदि रोकने के लिए किसी को भी बताया नहीं जाता है। ऊपर दर्शाये अनुच्छेद 4 के तहत विविध विशेषताओं के सेट को सौंपे भार के अनुसार भा.प्र.सं.अ. खुलासा करने के लिए खुद ही विवेकाधीन है। यह सुनिश्चित करें कि पारदर्शिता की कथित कमी किसी भी प्रकार से उम्मीदवारों को नकारात्मक रूप से प्रभावित नहीं करती है, और पैनल की रचना में पर्याप्त ध्यान रखा जाता है, आकलन के लिए वस्तुनिष्ठ मानदंडों का विकास किया जाता है, पैनल के सामने और अन्य ऐसे ही नियमों में उम्मीदवारों का यादृच्छिक आवंटन किया जाता है।
  6. जो कैट उम्मीदवार व्यक्तिगत साक्षात्कार में शामिल हुए थे उन्हें प्रवेश मिला है कि नहीं यह भा.प्र.सं.अ. वेबसाइट पर जाकर अप्रैल 2012 के तीसरे सप्ताह के दौरान देख सकते हैं। सफल हुए विदेशी उम्मीदवारों को अप्रैल 2012 के तीसरे सप्ताह में इमेल के माध्यम से सूचित किया जायेगा। प्रवेश पेशकश पत्र सभी सफल उम्मीदवारों को भेजा जायेगा। जिन उम्मीदवारों को प्रवेश पेशकश भेजी गई है, उन्हें मई 2012 के प्रथम/ दूसरे सप्ताह तक सभी आवश्यक औपचारिकताएँ पूर्ण करते हुए अपनी स्वीकृति की पुष्टि देनी होगी। अप्रैल 2012 के तीसरे सप्ताह के दौरान शुरू में प्रतीक्षा सूची पर भी कुछ उम्मीदवारों को दर्शाया जायेगा। प्रतीक्षा सूची में उम्मीदवारों को की गई पेशकश भा.प्र.सं.अ. द्वारा भेजी पेशकश को सफल उम्मीदवारों की स्वीकृति की संख्या पर आधारित रहेगी।
 
ध्यान दें:
भारत सरकार द्वारा विशेष दिशा-निर्देशों के जारी होने के मामले में दिशा-निर्देशों की प्रकृति को देखते हुए भा.प्र.सं.अ. सभी अधिकार ऊपरोक्त कथन के अनुसार अपने व्यक्तिगत साक्षात्कार जारी रखकर सुरक्षित रखता है अथवा एक वैकल्पिक चयन पद्धति का उपयोग करता है जिसमें लघुसूचीकृत उम्मीदवारों से अतिरिक्त सूचना के लिए उनको बुलाना, एक अनुपूरक परीक्षण अथवा अन्य योग्य प्रक्रिया/ क्रियाविधि आदि शामिल हैं। यह सुनिश्चित किया जायेगा कि उम्मीदवारों को कोई भी अनुचित असुविधा में नहीं छोड़ा जायेगा।
 

खर्च

वर्तमान में विदेशी उम्मीदवारों के लिए वार्षिक शुल्क 19,000 अमेरिकी $ है । फीस में ट्यूशन, पाठ्यक्रम सामग्री, और रहना और भोजन शामिल है। सभी छात्रों को एक व्यक्तिगत कंप्यूटर और एक प्रिंटर लेना आवश्यक हैं। संस्थान भी इनकी स्थानीय स्तर पर खरीद के लिए व्यवस्था कर सकता है। वार्षिक शुल्क में यात्रा, कपड़े, लेखन सामग्री, और कपड़े धोने जैसे व्यक्तिगत खर्चे शामिल नहीं हैं।
 
 
 
पीजीपी स्नातकों को सार्वजनिक क्षेत्र, निजी क्षेत्र और बहुराष्ट्रीय कॉरपोरेशनों से आयी कम्पनियों की एक विस्तृत श्रृंखला में नियुक्त किया गया है। हाल के वर्षों में, नियोक्ताओं ने अमेजोन, आर्थर डी लिटल, सिटिग्रुप ग्लोबल मार्केट्स, क्रेडिट सुइस, बेन एंड कम्पनी, बारकलेज़ कैपिटल, बूज एंड कम्पनी, डेलॉइट, ड्यूश बैंक, गोल्डमैन साक्स, हिन्दुस्तान यूनिलिवर, एचएसबीसी, मैककिन्से एंड कम्पनी, मेरिल लिंच, मॉर्गन स्टेनली, नोमुरा इन्टरनेशनल, ओलिवर-वायमैन, प्रोक्टर एंड गैम्बल, टाटा एड्मिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज़, टाटा कन्सल्टन्सी सर्विसेज़, स्कॉटलैंड ग्रुप रोयल बैंक, बोस्टन कन्सल्टिंग ग्रुप, यूबीएस, वेल्यु पार्टनर्स, विप्रो, यश बैंक आदि को शामिल किया हैं। आज लगभग 8000 पीजीपी पूर्वछात्र देश में और विदेश में उद्योग में शीर्ष प्रबंधकीय पदों पर कार्यरत हैं। 
 
 
 
भा.प्र.सं.अ. में संकाय सदस्य लगभग 90 की संख्या में हैं, जो सभी शैक्षिक, अनुसंधान और कन्सल्टिंग कार्यक्रमों की रचना एवं नेतृत्व करते हैं। कई संकाय सदस्य संस्थान के शैक्षणिक प्रशासन एवं नियमन में शामिल हैं। भा.प्र.सं.अ. के संकाय सदस्य प्रबंधन के विविध और संबंधित तथा मजबूत व्यवसायी-उन्मुख शिक्षण एवं परामर्शन के विभिन्न एरियामें अपने निरंतर योगदान द्वारा प्रतिष्ठित हैं। 

 
2000 से अधिक नोड्स के साथ अति आधुनिक कंप्यूटर नेटवर्क संस्थान समुदाय के सभी सदस्यों को एक दूसरे से जोड़ता है। इस नेटवर्क में फाइबर ऑप्टिक रीढ़ है जिसका एक या अधिक फाइबर खंड परिसर में हर इमारत तक पहुँचता है।
 
यहाँ 90 से अधिक हाई एंड प्रबंधनीय नेटवर्क स्विच हैं जो आंतरिक डेटा कार्य व्यापार को संभालते हैं। शयनशालाओं में छात्रों के कमरों, संकाय कार्यालयों, कक्षाओं, प्रबंधन विकास केन्द्र, कम्प्यूटर प्रयोगशाला, एफ पी एम प्रयोगशाला और प्रशासनिक कार्यालयों सहित परिसर में हर जगह नेटवर्क कनेक्टिविटी है। लंबी दूरी की ईथरनेट प्रौद्योगिकी का प्रयोग करके संकाय / कर्मचारियों के निवासों में भी संस्थान के इंट्रानेट से नेटवर्क कनेक्टिविटी प्रदान की गई है। संस्थान ने इन सबके ऊपर एक वायरलेस परत (WI-Fi) डाल दी है उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड आधारित प्रमाणीकरण का उपयोग करके उच्च स्तरीय सुरक्षा के साथ बेहद सघन नेटवर्क डाला गया है। उच्च सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक फायरवॉल दी गई है। परिसर से बाहर डेटा प्राप्त करने के लिए वी पी एन आधारित उपयोग और उपयोगकर्ता के नाम और पासवर्ड आधारित प्रमाणीकरण के साथ एक भंडारण सर्वर भी है जो वर्तमान में प्रोफेसरों के लिए है।
 
परिसर नेटवर्क विस्तृत विविधता वाले प्लेटफार्मों पर चल रहे 30 से अधिक उच्च गति सर्वर के साथ बड़े सर्वर फार्म के साथ द्वारा समर्थित है। इस नेटवर्क पर कई सर्वर आवश्यक सेवाएँ प्रदान करने के लिए Linux और ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं। हर कार्यसमूह (शिक्षकों, छात्रों, स्टाफ, एमडीसी प्रतिभागियों, आदि), के लिए समर्पित सर्वर का एक सेट है जो इंटरनेट का उपयोग और फ़ाइल/प्रिंट सेवाएं उपलब्ध कराने जैसी सेवाओं का एक कोर परत प्रदान करता है। ई मेल की सुविधा का प्रबंध गूगल के माध्यम से किया जाता है, जो आई आई एम-ए को वेब आधारित ई-मेल ग्राहक, तैयार चैट सुविधा, गूगल डॉक्स, गूगल एप्पस, गूगल साइटें और कुछ अन्य सुविधाएं भी प्रदान करता है । मुख्य वेब सर्वर (http://www.iima.ac.in) में आई आई एम-ए के बारे में जानकारी है। एक और वेब सर्वर (http://stdwww.iima.ac.in) छात्रों को अपने-अपने होम पेज होस्ट करने के लिए के लिए सुविधाएँ प्रदान करता है। हर छात्र के लिए छात्रावास में वेब आधारित प्रिंट बिलिंग सॉफ्टवेयर के साथ एक उच्च गति साझा नेटवर्क प्रिंटर है। अपने शैक्षणिक और अनुसंधान कार्यों के लिए छात्रों और शिक्षकों के लिए कई तरह के सॉफ्टवेयर पैकेज उपलब्ध हैं। इन पैकेजों में कई भाषा प्रोसेसर, सांख्यिकीय, गणित, प्रोग्रामिंग सिमुलेशन, परियोजना प्रबंधन, केस और ई आऱ पी पैकेज शामिल हैं।
 
हर छात्र और संकाय सदस्य के पास एक हाई एंड नेटवर्क व्यक्तिगत कंप्यूटर या लैपटॉप है। संस्थान का नेटवर्क समर्पित लीज लाइनों के सेट के माध्यम से इंटरनेट से जुड़ा हुआ है जिससे चौबीसों घंटे परिसर में इंटरनेट कनेक्टिविटी उपलब्ध रहती है। जिन इंटरनेट सेवा प्रदाताओं (आई एस पी) से संस्थान ने इंटरनेट बैंडविड्थ प्राप्त की है उन्होंने परिसर से अपने हब तक फाइबर ऑप्टिक्स लिंक स्थापित किया है। यह इंटरनेट के लिए बैंडविड्थ की बहुत ही उच्च गुणवत्ता सुनिश्चित करता है। संस्थान के पास इंटरनेट के लिए 45 एम बी पी एस बैंडविड्थ है। अधिक बैंडविड्थ की जरूरत पड़ने पर इसे 100 एम बी पी एस तक बढ़ाने के लिए यह तकनीकी रूप से सुसज्जित है। इसके अलावा आई आई एम-ए के पास 10 एम बी पी एस की एक समर्पित लाइन भी है। हर कक्षा में एक प्रोजेक्टर, एक पी सी, और एक डी वी डी प्लेयर है। कई कक्षाएं आई एस डी एन आधारित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग क्षमता के लिए भी सुसज्जित हैं। कंप्यूटर केंद्र में एक विशेष कमरा भी उपलब्ध है जहाँ ऑनलाइन कंप्यूटर आधारित प्रशिक्षण दिया जा सकता है। हाल ही में नयी आई आई एम-ए वेबसाइट में भुगतान प्रवेश द्वार भी शामिल किया गा है और आई आई एम-ए केस अध्ययन और शोध रिपोर्टों के एक बड़े संग्रह तक पहुँच प्रदान करता है।
  
 
103 एकड़ का परिसर मुख्य मार्ग को दो भागों में बाँट देता है। ये दोनों भाग एक सुरंग के जरिए भूगर्भसेतु से जुड़े हुए हैं, जो भा.प्र.सं.अ. को एक श्रेष्ठ फोटोगैलेरी प्रदान करते हैं। पैतृक परिसर लगभग 64 एकड़ में फैला हुआ है और वर्गखंडों एवं संगोष्ठी कक्षों, एक सभागार, सुसज्ज विक्रम साराभाई पुस्तकालय, एक कम्प्यूटर केन्द्र, संकाय व प्रशासनिक कार्यालयों, 18 छात्रावास, कार्यकारी शिक्षा के लिए कस्तूरभाई लालभाई प्रबंधन विकास केन्द्र, संकाय व कार्मिक आवास, एक जिम्नेशियम और अन्य खेल सुविधाओं का एक शैक्षणिक संकुल में स्थित हैं। 39 एकड़ के नये परिसर पर छात्रावास, 5 वर्गखंड, 4 संगोष्ठी कक्ष, 8 व्यवसाय संघ सभा कक्ष (सिंडीकैट), विवाहित छात्रों के लिए आवास, एक प्रशासनिक ब्लॉक और एक अंतरराष्ट्रीय प्रबंधन विकास केन्द्र शामिल हैं।
 
छात्रों के लिए छात्रावास में रहना अनिवार्य है। प्रत्येक कमरा एक टेलिफोन कनेक्शन के साथ पूर्णतया सुसज्जित है। प्रत्येक छात्रावास में एक टेलिविज़न, वॉशिंग मशिन और एक रेफ़्रिजरेटर रखा है। शाकाहारी और मासाहारी दोनों ही प्रकार के भोजन संस्थान के भोजनालय में परोसे जाते हैं।
 
इनडोर आउटडोर खेलों के लिए मनोरंजन कार्यकलाप भी उपलब्ध हैं। परिसर पर स्थित डिस्पेन्सरी में तीन डॉक्टर उपलब्ध रहते हैं। एक डाक कार्यालय और एक पूर्ण विकसित भारतीय स्टेट बैंक शाखा एटीएम सुविधा के साथ परिसर पर ही उपलब्ध हैं। 
 
 
अहमदाबाद का मौसम वर्ष के दौरान प्रायः गर्म रहता है, हल्की सर्दियों का मौसम दिसम्बर से जनवरी तक रहता है, जब तापमान 10 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। मार्च से जून के दौरान गर्मी का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो सकता है।
 
 
प्रार्थना पत्र डाऊन लोड करें पी डी एफ संस्करण या एम एस वर्ड संस्करण
 
या
 
अपने पूरे पते के साथ लिखें:
प्रबंधक (प्रवेश)
भारतीय प्रंबध संस्थान
वस्त्रापुर, अहमदाबाद 380 015
फोन: +91-79-66324632/66324633 
फैक्स: +91-79-66324631(सीधा) / 26306896 (सामान्य)
ईमेल आईडी:: Turn on JavaScript!
 
आवेदन पूर्णतया भरकर ऊपर दिए पते पर प्रबंधक (प्रवेश) को कोरियर करें।
 

अंतिम तिथि

आइ आइ एम-ए में विदेशी उम्मीदवारों से पूर्ण आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तारीख हैः15 दिसंबर 2011
­­­­­­­­­­­­____________________
[1] डी ए श्रेणी से तात्पर्य विशिष्ट-योग्य श्रेणी से है। इस श्रेणी को पी डब्ल्यू डी श्रेणी के रूप में भी जाना जाता है।
 
[2] कैट से तात्पर्य कैट 2011 है, जीमैट से तात्पर्य 15 दिसंबर 2011 को पिछले 24 महीनों के भीतर प्रशासित जीमैट से है